हम लोग हनीमून के लिए शिमला गए थे. वहां पर हमारी मुलाकात एक दूसरे जोड़े से हुई. हम ने साथ में जाखू टैंपल जाने का निश्चय किया. जाखू की चढ़ाई के पहले ही प्रसाद, फूल आदि चीजें मिल रही थीं. हमें बताया गया कि आगे कुछ नहीं मिलेगा. हम लोगों ने वहीं से खाने का सामान खरीद लिया. दूसरा जोड़ा बहुत धीरेधीरे चढ़ रहा था तो मुझे बहुत क्रोध आ रहा था. मैं ने पति से जल्दी चलने को कहा तो उन्होंने कहा, ‘‘अच्छा नहीं लगेगा, उन लोगों को छोड़ कर जाना. खाना मेरे हाथ में था.

Tags:
COMMENT