घर चाहे छोटा हो पर अपना हो, यह सब का सपना होता है. जाहिर है आप भी अपना खुद का घर/फ्लैट चाहते होंगे. सवाल यह है कि ऐसा हो कैसे? ऐसा हो सकता है. इसके लिए चाहिए होगा पैसा, वह भी हो जाएगा कुछ आसन से प्रयोगों के साथ.

गुजरे 30 दशकों में हमारे पर्सनल फाइनैंस को हैंडल करने के तरीके में काफी बदलाव हुए हैं, लेकिन फिर भी एक फ्लैट खरीदना हमारे लिए आज भी उतना ही अहम है जितना यह हमारे पेरेंट्स के लिए हुआ करता था.

एस्पिरेशन इंडेक्स स्टडी, जिसे इंडियन मिलेनियल्स के फाइनैंशियल टारगेट्स का सर्वे करने के लिए किया गया था, में 47 फीसदी जवाब देने वालों ने कहा कि वे अपने दूसरे सभी टारगेट्स से ज्यादा एक फ्लैट खरीदने के टारगेट को प्राथमिकता देते हैं. जबकि 61 फीसदी मिलेनियल्स इसे हासिल करने के लिए लोन लेने से भी पीछे हटने वाले नहीं हैं.

इस से यह पता चलता है कि यंग प्रोफेशनल्स के पास डाउनपेमेंट करने के लिए या घर के कर्ज की रेगुलर मासिक किस्त चुकाने के लिए पैसे नहीं हैं. इसलिए, अपनी जरूरतों और इच्छाओं को पूरा करने के बीच आने वाली पैसे के कमी को पूरा करने के लिए आप को कुछ स्मार्ट फाइनेंशियल मैनेजमेंट और इन्वेस्टमेंट टिप्स की मदद लेनी होगी.

अपनाएं फाइनेंशियल डिसिप्लिन

आप की कितनी इन्कम है, उस हिसाब से खर्च और बचत करें. फाइनेंशियल डिसिप्लिन आगे चल कर काफी फायदेमंद साबित हो सकता है, चाहें आप की इच्छा बड़ी हो या छोटी. इसके लिए एक बजट तैयार करें और उसी बजट के हिसाब से चलें. अपने खर्च पर नजर रख कर आप अपने बेकार के खर्च में कटौती कर सकते हैं. बेहतर परिणाम के लिए आप अपनी इन्कम और फाइनेंशियल देनदारी में कोई बदलाव होने पर अपने बजट में भी जरूर बदलाव करें.

फ्लैट की डाउन पेमेंट के पैसों का इंतजाम करने के लिए अभी से इन्वेस्टमेंट शुरू कर दें. अगर आप कुंवारे/कुंवारी हैं तो अभी आप की फाइनेंशियल देनदारियां और आप पर डिपेंड रहने वाले लोगों की तादाद कम होगी, इसलिए इस समय आप ज्यादा बचत कर सकते हैं. अपनी बचत का कुछ हिस्सा ज्यादा रिटर्न देने वाले इन्वेस्टमेंट में लगाएं ताकि आप को अपने डाउन पेमेंट के लिए जरूरी रकम का इंतजाम करने में मदद मिल सके. इस के अलावा, आप इन्वेस्टमेंट कर के टैक्स बेनिफिट का भी भरपूर लाभ उठा सकते हैं.  इस से आप का अच्छा क्रेडिट स्कोर भी बन सकता है.

तरहतरह के कर्ज लें

फ्लैट खरीदने के लिए बैंक या किसी फाइनेंशियल कंपनी से होम लोन के वास्ते आप को गारंटर यानी जमानतदार की जरुरत पड़ती है. लेकिन एक होम लोन उस समय ज्यादा अफोर्डेबल बन जाता है जब आप के पास एक अच्छा क्रेडिट स्कोर होता है.  इसलिए आगे के लिए अभी से इसे तैयार करने की शुरुआत कर दें.

आप को बस हर महीने अपने क्रेडिट कार्ड बिल का फुल पेमेंट करना है और अपने क्रेडिट लिमिट से ज्यादा खर्च नहीं करना है. आप कुछ अलगअलग टाइप के लोन भी ले सकते हैं, जैसे एक अनसिक्योर्ड पर्सनल लोन और एक सिक्योर्ड कार्ड लोन, जो आप के स्कोर को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं. लेकिन हां, कोई भी लोन लेने से पहले अपनी मासिक किस्त का कैलकुलेशन जरूर कर लें, साथ ही, समय पर किस्त चुकाएं, तभी आप का स्कोर बढ़ सकता है.

खरीदने वाले फ्लैट का सिलेक्शन

जब आप फ्लैट खरीदने का मन बना लें तो नंबर एक की प्रौपर्टी को ही तलाश करें. रेरा के साथ रजिस्टर्ड बिल्डर के साथ साथ एक परफेक्ट घर की तलाश के दौरान अपने टारगेट्स को ध्यान में रखना न भूलें. एक ऐसा घर खरीदें जिस में आप की फैमिली आराम से रह सके.

इसके अलावा, ऐसा घर चुनें जो आप के बजट के भीतर हो, जिस के लिए आप को अपनी कैपेसिटी से ज्यादा लोन न लेना पड़े. एक औनलाइन ईएमआई कैलकुलेटर की मदद से अपने होम लोन से जुड़े खर्च का अंदाजा लगाएं और अपने कर्ज व इन्कम के अनुपात को कम रखें. यदि आप अभी घर नहीं खरीद सकते हैं तो कम से कम उस के लिए अभी से इन्वेस्टमेंट करना जरूर शुरू कर दें.

घर से जुड़े अन्य खर्चों पर भी गौर करें 

अब जब आप फ्लैट के मालिक बनने जा रहे हैं तो उससे जुड़े कई खर्चों पर भी ध्यान से गौर कर लें. होम लोन की मदद से या होम लोन के बिना एक घर खरीदने के कुल खर्च पर सोचविचार करते समय उसमें स्टाम्प ड्यूटी, रजिस्ट्रेशन, ब्रोकरेज और शिफ्टिंग का खर्च जोड़ना न भूलें.

इसके अलावा ऐसा भी हो सकता है कि आप नया फर्नीचर खरीदना चाहते हों, इंटीरियर वर्क करवाना चाहते हों, इलेक्ट्रौनिक सामान खरीदना चाहते हों, या लैंडस्केपिंग या स्ट्रक्चरल मोडिफिकेशन करवाना चाहते हों. कुछ प्रौपर्टी के लिए आप को सालाना या मासिक मेंटेनेंस फीस और पार्किंग स्पेस के लिए कुछ अतिरिक्त चार्ज भी देने पड़ सकते हैं. इस तरह के खर्चों को अनदेखा करने पर बाद में आप की इन्कम पर काफी दबाव पड़ सकता है.

बड़े आराम से और बिना किसी परेशानी के घर खरीदने के अपने सपने को पूरा करने के लिए इन टिप्स को हमेशा याद रखें.

Tags:
COMMENT