अगर आपको अचानक पैसों की जरूरत पड़ती है और आपको न तो दोस्त से मदद मिल पा रही है और ना बैंक लोन दे रहे हैं तो आपके पास एक औप्शन और है. जहां से आपको एक से दो दिन के भीतर पैसा मिल सकता है.

इसके लिए आपको बहुत कम औपचारिकताएं पूरी करनी पड़ती हैं. यह नई तरह का मौडल है, जिसके बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते. इसे पी2पी लैंडिंग प्लेटफौर्म कहा जाता है. आइए, जानते हैं कि क्या है पी2पी लैंडिंग प्लेटफौर्म और इसके फायदे क्या हैं?

क्या है पी2पी प्लेटफौर्म

पी2पी यानी पीयर-टू-पीयर लेंडिंग क्राउड फंडिंग का तरीका है. इसका इस्तेमाल कर्ज लेने के लिए किया जाता है. यहां एक व्यक्ति दूसरे से लोन लेता है. यानी जिन लोगों को कर्ज की जरूरत होती है, वे उन लोगों से लोन ले लेते हैं, जो कर्ज देकर उस रकम पर ब्याज कमाना चाहते हैं.

1 से 2 दिन में मिलता है लोन

बैंकों के मुकाबले न केवल लोन की प्रोसेसिंग, बल्कि इसे देने में भी तेजी दिखार्इ जाती है. कर्ज लेने वालों के वेरिफिकेशन के बाद 24-48 घंटे में लोन की प्रक्रिया पूरी कर दी जाती है. बैंक के लोन अमूमन 5-7 दिनों में ग्राहक तक पहुंचते हैं.

कम से कम समय में लौटा सकते हैं पैसा

पी2पी पर कर्ज लेने वालों के आकर्षण का सबसे बड़ा केंद्र है लोन अदा करने की अवधि. ये लोन 3 से 36 महीनों के बीच की अवधि के होते हैं. वहीं, बैंकों के पर्सनल लोन एक से पांच साल की अवधि के होते हैं

प्रीपेमेंट चार्ज नहीं

बैंक के पर्सनल लोन को समय से पहले बंद करने पर आप से 2-4 फीसदी की प्री-क्लोजर फीस ली जा सकती है. वहीं, पी2पी लोन को चुकाने पर तीन महीने के बाद इस तरह का कोर्इ चार्ज नहीं लगता है. इसके अलावा केवल कुछ ही बैंक आपको पार्ट-पेमेंट की सुविधा देते हैं. पी2पी लोन के मामले में यह बात लागू नहीं होती है. आप पार्ट-पेमेंट करने के लिए आजाद होते हैं.

हर तरह का लोन

पी2पी प्लेटफॉर्म पर किसी भी जरूरत के लिए अनसिक्योर्ड लोन लिए जा सकते हैं. कर्ज को चुकाने से लेकर शादी-ब्याह और छुट्टी मनाने के लिए पैसों की जरूरत तक को ये पूरा करते हैं. आप अपने हिसाब से ब्याज दर, लोन की रकम और अवधि को चुन सकते हैं. 50,000 रुपये से नीचे के छोटे लोन भी पी2पी लेंडिंग प्लेटफौर्म पर उपलब्ध हैं.

क्रेडिट स्कोर कम हो तो भी मिल जाता है पैसा

बैंक ब्रांच मौडल पर आपरेट करते हैं. उनके लिए छोटी राशि के लोन देना मुफीद नहीं होता है. बैंक लोन के मुकाबले पी2पी लोन के साथ ज्यादा फ्लेक्सिबिलिटी होती है. क्रेडिट स्कोर 750 के नीचे होने के बावजूद पी2पी पर ज्यादा लोन मिल सकता है. कर्ज लेने वाले का आकलन उसकी क्षमता और लोन वापस करने के इरादे के आधार पर किया जाता है.

औनलाइन करें अप्लाई

बताए गए पते के फिजिकल वेरिफिकेशन के अलावा पी2पी लेंडिंग की पूरी प्रक्रिया आनलाइन होती है. यहां तक कि आप अपने मोबाइल फोन से दस्तावेजों को स्कैन और साझा कर सकते हैं.

Tags:
COMMENT