ह्यूमन कंप्यूटर मानी जाने वाली लेखिका शकुंतला देवी 1929 में बेंगुलरु, मैसूर में तब जन्मी थीं, जब भारत में अंगरेजों का राज था. उन्होंने शिक्षाध्ययन के समय ही लोगों को जता दिया था कि उन का दिमाग कंप्यूटर से भी तेज है. बाद में लोग उन्हें ह्यूमन कंप्यूटर कहने लगे थे. हालांकि इस के बावजूद उन की जिंदगी में परेशानियों की कमी नहीं रही.

21 अप्रैल, 2013 को बेंगलुरु के एक अस्पताल में शकुंतला देवी की मृत्यु हो गई थी. अब विक्रम मल्होत्रा शकुंतला देवी की बायोग्राफी पर फिल्म बनाने जा रहे हैं. इस फिल्म में शकुंतला देवी की भूमिका में विद्या बालन होंगी और उन की बेटी अनुपमा बनर्जी के रोल में सान्या मल्होत्रा.

ये भी पढ़ें- अपनी तस्वीरों के जरिए फैंस का दिल जीत रही हैं  ये नागिन एक्ट्रेस

इस फिल्म की खास बात यह है कि फिल्म की स्टोरी, स्क्रीनप्ले, डायलौग राइटर से ले कर डायरेक्शन तक सारे काम महिलाएं कर रही हैं. मसलन फिल्म का निर्देशन अनु मेनन कर रही हैं तो स्क्रीनप्ले नयनिका महतानी ने लिखा है.

डायलौग राइटर भी इशिता मोइत्रा हैं. संभवत: यह ऐसी पहली हिंदी फिल्म है, जिस में निर्देशन से ले कर राइटिंग और मेन लीड तक में महिलाएं हैं. यह फिल्म इसी साल रिलीज होगी. तो इंतजार कीजिए एक बेहतरीन अदाकारा विद्या बालन की फिल्म का.

ये भी पढ़ें- मरते दम तक एक्टिंग करूंगी : करीना कपूर

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT