ह्यूमन कंप्यूटर मानी जाने वाली लेखिका शकुंतला देवी 1929 में बेंगुलरु, मैसूर में तब जन्मी थीं, जब भारत में अंगरेजों का राज था. उन्होंने शिक्षाध्ययन के समय ही लोगों को जता दिया था कि उन का दिमाग कंप्यूटर से भी तेज है. बाद में लोग उन्हें ह्यूमन कंप्यूटर कहने लगे थे. हालांकि इस के बावजूद उन की जिंदगी में परेशानियों की कमी नहीं रही.

Tags:
COMMENT