बौलीवुड में अभिनेत्री के तौर पर जो मुकाम, जो सुपर स्टारडम श्रीदेवी को मिला, वह किसी अन्य अभिनेत्री को नहीं मिल पाया. इसके बावजूद वह अपनी बेटी जान्हवी कपूर को फिल्मों/बौलीवुड से जुड़ने की इजाजत देने से पहले हिचकिचा रहीं थी. पर अंततः श्रीदेवी ने अपनी बेटी जान्हवी कपूर को अभिनय के क्षेत्र में उतरने की इजाजत दे दी थी. श्रीदेवी के सामने ही उनकी बेटी जान्हवी कपूर की पहली फिल्म ‘‘धड़क’’ की शूटिंग भी शुरू हो गयी थी. जान्हवी को फिल्मों से जुड़ने की इजाजत दिए जाने पर एक खास मुलाकात के दौरान श्रीदेवी ने हमसे कहा था- ‘‘मैं एक ही बात जानती हूं, ‘नो पेन नो गेन’. बिना दर्द सहे, कुछ भी नहीं मिलता. मेहनत तो करनी पड़ेगी. देखिए, यह मेरी बेटी की डेस्टिनी है कि उसे हीरोईन बनना है. शुरुआत में मेरे प्रोत्साहित ना करने के बावजूद हीरोईन बनने का उसका डेडीकेशन खत्म नहीं हुआ. मैंने अपनी तरफ से उनका ध्यान पढ़ाई की तरफ रखने की कोशिश की, लेकिन उनकी डेस्टिनी में फिल्म हीरोईन बनना लिखा है, तो घूम फिरकर वह वहीं आ गयीं.’’

Tags:
COMMENT