महज 4 साल की छोटी उम्र में मराठी फिल्म ‘हा माझा मार्ग एकला’ में बाल कलाकार के रूप में काम कर राष्ट्रपति पुरस्कार जीतने वाले अभिनेता सचिन पिलगांवकर ने मराठी और हिंदी फिल्मों के अलावा भोजपुरी फिल्मों में भी काम किया है.

हिंदी फिल्म ‘बालिका वधू’ उन की चर्चित फिल्म है, लेकिन जीवन का टर्निंग पौइंट उन की फिल्म ‘गीत गाता चल’ थी. इस फिल्म में उन की और सारिका की जोड़ी को दर्शकों ने खूब पसंद किया. फलस्वरूप ‘अंखियों के झरोखों से’ फिल्म बनी. फिल्म ‘नदिया के पार’ सचिन की सब से बड़ी हिट फिल्म थी. अभिनेत्री साधना सिंह के साथ उन की यह फिल्म सुपरडुपर हिट हुई. यही वजह थी कि राजश्री प्रोडक्शन वालों ने दोबारा उस फिल्म को 1994 में सलमान खान और माधुरी दीक्षित के साथ ‘हम आप के हैं कौन’ नाम से बनाया और एक बार फिर वह कामयाब रही.

COMMENT