कोरोना नें दुनियां भर में तमाम बदलाव लाने का काम किया है. भारत भी इससे अछूता नहीं हैं यहाँ भी कोरोना के चलते लॉक डाउन लगाया गया है जिसका तीसरा चरण ख़त्म होने को है और चौथे चरण की घोषणा भी की जा चुकी है.

इस लॉक डाउन नें हर तरह के उद्योगों को प्रभावित किया है. तो भारतीय फिल्म इंडस्ट्री इससे कैसे अछूती रह पाती. देश में बॉलीवुड से लेकर साऊथ और भोजपुरी से लेकर पंजाबी, मराठी व रीजनल भाषाओं में रिलीज के लिए तैयार फ़िल्में कोरोना के कहर के ख़त्म होने व लॉक डाउन के समाप्त किये जाने की घोषणा का इंतज़ार कर रहीं है. जिससे फिल्म उद्योग को फिर से पटरी लाया जा सके.

Tags:
COMMENT