फिल्म ' पीटर' 10 वर्षीय बालक धान्या और बकरी के बच्चे की बीच की दोस्ती को बयां करने के साथ दिल को छू लेने वाली कहानी है. एक दिन धान्या के दादाजी, धान्या के चाचा को एक संत के पास ले जाते हैं .क्योंकि धान्या के चाचा की शादी के 5 वर्ष बीत जाने के बावजूद भी कोई संतान नहीं है. संत कहते हैं कि उन्हें भगवान सोनोबा को बकरी समर्पित करनी पड़ेगी.
अब धान्या के पिता व चाचा दोनों बकरी की तलाश शुरू कर देते हैं. मगर गांव में फेस्टिवल के चलते बकरी खत्म हो गई है. आसपास के 4 गांव में तलाश करने के बाद उन्हें एक घर के सामने बकरी का एक बच्चा मिलता है, जिसकी मां सांप के काटने के कारण मर चुकी है. बकरी के बच्चे को भगवान सोनोबा को समर्पित नहीं किया जा सकता.
ये भी पढ़ें- फिल्म ‘ मास्टर’ को मिले इतने स्टार्स
ऐसे में निर्णय लिया जाता है  कि बकरी के बच्चे को घर ले जाकर पांच छह माह तक पाल पोस कर बड़ा करेंगे, उसके बाद उसे सोनोबा भगवान को समर्पित कर देंगे. लेकिन घर आने के बाद धान्या, बकरी के बच्चे के साथ खेलना शुरू कर देता है .धान्या को उसके दोस्त स्पाइडर-मैन बुलाते हैं और स्कूल के दोस्त उस बकरी के बच्चे को 'पीटर'बुलाने लगते हैं. क्योंकि धान्या, बकरी के बच्चे को  अपना भाई मानता है. धीरे-धीरे धान्या और पीटर के बीच संबंध प्रगाढ़ होते जाते हैं .
यह देख कर धान्या की मां को चिंता सताने लगती है कि जब पीटर के समर्पण का दिन आएगा ,तो क्या होगा? धान्या की मां की इच्छा के विपरीत एक दिन पीटर को भगवान सोनोबा को समर्पित कर दिया जाता है. इस घटना से धान्या को सदमा लगता है और वह जीवित होते हुए भी एक मृतक बालक की तरह हो जाता है. फिर धान्या के पूरे परिवार को पता चलता है कि धान्या की चाची गर्भनिरोधक गोली का सेवन करती हैं, इसी कारण बच्चा नहीं हो रहा है. क्योंकि धान्या की चाची खुद भी मां नहीं बनना चाहती .तब पूरे परिवार को एहसास होता है  संत ने भी मूर्ख बनाया.अब धान्या  की मां उसे स्वस्थ करने के लिए प्रयासरत है.
ये भी पढ़ें- बिग बॉस 14: राहुल से शादी को लेकर लोगों ने किया दिशा परमार को ट्रोल तो
"आनंदी इंटरप्राइजेज ","जंपिंग टोमेटो मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड "और "7 कलर्स सिने विजन "निर्मित मराठी भाषा की फिल्म 'पीटर' का निर्देशन अमोल अरविंद भावे ने किया है. इस फिल्म को अपने से सवाल ने वाले वाले कलाकार हैं- प्रेम बोरहडे, मनीषा भोर, अमोल पंसारे, विनिता संचेती, सिद्धेश्वर सिद्धेश हैं. फिल्म के संगीतकार श्री गुरुनाथ श्री, गायिका साई जोशी वह  गीतकार रंगनाथ गजरे हैं.
यह फिल्म 22 जनवरी को सिनेमाघरों में प्रदर्शित की जाएगी.

Tags:
COMMENT