29 अगस्त 2014 को अभिनेत्री, मौडल और सिंगर पूनम पांडे ने ‘ट्रिप टू भानगढ़’ फिल्म से डेब्यू किया था. अपनी तरह की इस अनूठी रियल हान्टेड थ्रिलर को काफी सराहा गया था. इस फिल्म को रिलीज हुए काफी अरसा हो गया है लेकिन इस फिल्म का आज फिर से जिक्र इसलिए किया जा रहा है क्योंकि इस फिल्म का पोस्टर एक नयी शक्ल में इंटरनेट में तैर रहा है.

दरअसल इन दिनों टीवी क्वीन एकता कपूर ने रागिनी एमएमएस फ्रेंचाइजी का डिजिटल वर्जन वेब सीरीज रागिनी एमएमएस 2.2 रिलीज किया है. और यह महज संयोग नहीं हो सकता कि इस सीरीज का पोस्टर ‘ट्रिप टू भानगढ़’ फिल्म के पोस्टर से पूरी तरह से इंस्पायर हो.

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है. इस से पहले भी शाहरुख खान की फिल्म रा-वन का पोस्टर बैटमैन फिल्म से लिया गया था. फिल्म राज का पोस्टर एंटीक्राइस्ट से उड़ाया गया था. बहरहाल इसकी एक लम्बी लिस्ट है.

इस बाबत जब ऐक्ट्रेस पूनम पांडे से प्रतिक्रिया ली गई तो उन्हें भी दोनों पोस्टर्स की सिमिलैरिटी देखकर आश्चर्य हुआ. पूनम कहती हैं, यह महज संयोग भी हो सकता है. कई बार क्रिएटिव लोग एक जैसा सोच लेते हैं. कई बार कहीं से इंस्पायर भी होते हैं, लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि रागिनी एमएमएस का पोस्टर फिल्म ट्रिप टू भानगढ़ से काफी मिलता जुलता है.

आपको बता दें कि पूनम पांडे न सिर्फ सफल मौडल व स्टेज एक्ट्रेस हैं बल्कि युवा फिल्म में भी काम कर चुकी हैं, निर्देशक जसबीर भाटी की फिल्म युवा एक गंभीर मुद्दे पर बनी थी. इसके अलावा उन्होंने कलर्स, सोनी और जी टीवी पर प्रसारित हो चुके कई सीरियल्स में काम किया है.

फिलहाल पूनम अभिनय के हर आयाम को छू रही हैं. बौलीवुड में एक खास छाप छोड़ने के बाद आप उन्हें जल्द ही गुजराती फिल्मों में अभिनय करते देखेंगे. रीजनल फिल्मों का बढ़ता चलन और गुजारी फिल्मों की देश दुनिया में बढ़ती दर्शकों की तादाद देखते हुए कहना गलत नहीं होगा कि पूनम वहां भी कामयाबी भरी पारी खेलेंगी.

फिल्में क्रिएटिविटी का सबसे बड़ा मीडियम मानी जाती हैं. एक्टर की एक्टिंग जहां मेथड होती है वहीं पब्लिसिटी भी इन्नोवेटिव स्टायल में की जाती है. जिस तरह फिक्शन नौन फिक्शन की दुनिया में प्लेगरिज्म यानी लिटरेचर की चोरी चलता है ठीक वैसे ही बौलीवुड से लेकर हौलीवुड तक प्लेगरिज्म काफी देखा गया. फिल्मों की स्टोरी कौपी करने का चलन अब काफी कम इसलिए हो गाया है क्योंकि फिल्में ग्लोबल लेवल पर रिलीज होती हैं और अगर किसी प्रोडूसर ने किसी कंट्री की फिल्म बिना परमिशन चोरी तो कापीराइट का मामला बन जाता है और फौक्स, सोनी और वार्नर्स ब्रदर्स जैसे हौलीवुड प्रोडक्शन हाउस अपनी फिल्मों के कापीराइट मोटी कीमतों पर बेच रहे हैं. इस वजह से अब ये काम आसान नहीं रहा गया है.

लेकिन इन दिनों जो काम धड़ल्ले से चल रहा है वह है पोस्टर से आइडिया उड़ाने का. किसी भी फिल्म का पोस्टर उसकी पब्लिसिटी टीम यह कहकर तैयार करती है कि ओरिजिनल कान्सेप्ट हैं लेकिन बाद में पता चलता है कि यह पोस्टर तो देखा हुआ लगता है. उम्मीद है एकता कपूर जैसे बिग बैनर्स से इस तरह की क्रिएटिव प्लेगरिज्म दोबारा देखने को नहीं मिलेगी.

Tags:
COMMENT