एलर्जी को ले कर आम लोगों को सटीक जानकारी न होने के चलते गलतफहमियां हो जाती हैं. ये गलतफहमियां बाद में स्वास्थ्य के लिए खतरा तक बन जाती हैं. इंडियन मैडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष डा. के के अग्रवाल से जानिए एलर्जी से जुड़ी समस्याओं के सटीक जवाब.

मैं अकसर धूप में निकलने से बचती हूं. जब भी निकलती हूं, मेरी त्वचा में जलन सी होने लगती है. अचानक त्वचा पर लाल चकत्ते से पड़ने लगते हैं. क्या करना चाहिए?

हो सकता है कि आप की त्वचा प्रकाश के प्रति अधिक संवेदनशील हो. ऐसी समस्या होने पर, पराबैगनी विकिरण या दृश्य प्रकाश की उपस्थिति में त्वचा प्रतिक्रिया कर बैठती है. बाह्य या आंतरिक कारकों के आधार पर इस समस्या

को इडियोपैथिक फोटोडर्मेटोसिस या फोटोडर्मेटोसिस 2 प्रमुख श्रेणियों में बांटा जा सकता है. इस की कुछ अन्य श्रेण्यिं हैं– फोटोएक्सेसरबैटेड डर्मेटोसिस व फोटोसैंसिटिव जैनोडर्मेटोसिस. इस से बचाव के लिए आप धूप में निकलने से बचिए और जाना ही पड़े तब एंटीएलर्जिक दवा लें. इस के लिए आप को त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श भी लेना चाहिए.

*

मैं 21 वर्षीय कालेज स्टूडैंट हूं. पिछले कुछ सप्ताह से घर से बाहर निकलने पर मेरी आंखों में जलन होने लगती है और वे लाल हो जाती हैं. धूप का चश्मा लगाने और आंखें नियमित रूप से धोने के बाद भी समस्या बनी हुई है. इस से छुटकारा कैसे पाऊं?

जो लक्षण आप ने बताए हैं, उस के हिसाब से तो यह आंखों की एलर्जी है. इसे एलर्जिक कंजंक्टिवाइटिस भी कहते हैं. यह एलर्जी तब सक्रिय होती है जब कोई जलन पैदा करने वाला तत्त्व आंखों के संपर्क में आता है. ऐसे तत्त्वों को एलर्जन कहते हैं, और जब शरीर इन के खिलाफ प्रतिक्रिया करता है, तब एलर्जी महसूस होती है. अपने नेत्रों को साफ पानी से नियमित रूप से धोएं. यदि समस्या फिर भी बनी रहे तब कोई एंटीएलर्जी गोली लीजिए. अपने साथ एक नरम और गीला कपड़ा ले कर

बाहर निकलें.

*

मुझे 6 माह का गर्भ है और मुझे परागकणों से एलर्जी है. क्या एलर्जी की यह समस्या मेरे शिशु को भी हो सकती है?

सभी एलर्जी मां से शिशु तक नहीं पहुंचती हैं. कुछ शिशुओं को एलर्जी हो सकती है, भले ही उन के परिवार में अन्य किसी को न हो.

*

मेरे घर पर एक कुत्ता है. कई बार उस के साथ खेलने से मुझे छींकें आने लगती हैं या गले में घरघराहट सी महसूस होती है. उसे छूने के बाद मैं हाथ भी धो लेता हूं, पर कोई फर्क नहीं पड़ता. हम अपने कुत्ते को प्रतिदिन नहलाते हैं और उस की साफसफाई का भी पूरा ध्यान रखते हैं. मैं उस के बिना नहीं रह सकता, क्या करूं?

अस्थमा या नाक में एलर्जी की समस्या वाले बच्चों एवं युवाओं में एलर्जन सांस में चले जाने से तत्काल प्रतिक्रिया होती है. घर के अंदर मौजूद एलर्जन्स, जैसे कि धूल में रहने वाले कीटाणु, बिल्ली, कुत्ते या काकरोच के साथ कुछ अन्य एलर्जीकारक तत्त्व अस्थमापीडि़तों को बहुत समस्या पैदा करते हैं.

जिन घरों में पालतू जानवर न हों, वहां अत्यधिक स्वच्छता रख कर और रूम एयर क्लीनर का प्रयोग कर के पशुओं से होने वाली एलर्जी को कुछ हद तक नियंत्रित किया जा सकता है. परंतु घर में यदि जानवर मौजूद हों, तो फिर साफसफाई का भी कोई असर नहीं होता है.

*

मेरी बेटी 1 साल की है और हाल ही में मैं ने उस की खुराक में अंडे शामिल किए हैं. लेकिन, 2 बार ऐसा हुआ है कि जबजब मैं ने उसे अंडा खाने में दिया, उस की त्वचा पर चकत्ते उभर आए. क्या उसे अंडे से एलर्जी है?

शिशुओं और छोटे बच्चों में दूध के बाद सब से ज्यादा एलर्जी अगर किसी अन्य भोज्य पदार्थ से होती है तो वह है मुर्गी का अंडा. एलर्जी का संदेह होने पर तत्काल वह भोज्य पदार्थ बच्चे की खुराक से हटा देना चाहिए. हालांकि, बच्चे के लिए अंडा एक संपूर्ण आहार माना जाता है.

बेकरी उत्पादों, डबल रोटी, क्रीम फिलिंग, कस्टर्ड, कैंडी, डब्बाबंद सूप, कैसरोल्स, फ्रौस्ंिटग, आइसक्रीम, लौलीपौप, मार्शमैलो, मार्जिपैन, पास्ता, सलाद ड्रैसिंग्स, मांस आधारित भोजन जैसे कि मीट बौल्स या मीट लोफ आदि में अंडा एक आवश्यक सामग्री के रूप में मौजूद रहता है. कई अध्ययनों में पाया गया है कि 66 से 88 प्रतिशत ऐग एलर्जी वाले लोग अत्यधिक गरम किए या बैक्ड एग उत्पादों की एलर्जी को बरदाश्त कर जाते हैं.

*

सुबह उठने के बाद मुझे बारबार छींकें आती हैं. ऐसा अकसर 2 घंटे तक चलता है और यह बहुत परेशान करने वाली बात है. इस के बाद मैं पूरे दिन एकदम ठीक रहता हूं. सुबह को ही ऐसा क्यों होता है?

चिकित्सा विज्ञान की दृष्टि से देखें तो इस के कई कारण हो सकते हैं. एलर्जी पैदा करने वाले संभावित कारणों से अपनेआप को दूर रख सकते हैं. अन्यथा, आप को प्रतिदिन एक एंटीएलर्जी टैबलेट लेनी पड़ सकती है. सौंफ के बीज अच्छे एंटीऔक्सीडैंट होते हैं और आप इन का लाभ हर्बल टी का सेवन कर के ले सकते हैं. सौंफ वाली चाय एलर्जी को रोकती है. भाप को सांस में अंदर खींच कर भी आप इस समस्या से कुछ हद तक छुटकारा पा सकते हैं.        

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं