अगर आप कहीं घूमने जाने का प्लान बना रहे हैं तो आज आपको कुछ टिप्स बताते हैं. इन्हें अपनाकर अपने यात्रा को यादगार और आसान बना सकते हैं.  तो आईए जानते हैं आप यात्रा पर जाने के लिए कैसे तैयारी करें.

ऐसे करें तैयारी

अपने डैस्टिनेशन को ध्यान में रखते हुए तैयारी करें. वहां कैसा मौसम है, उसी हिसाब से कपड़े पैक करें. ध्यान रहे कपड़े अधिक न हों. अगर ज्यादा दिन के लिए सैरसपाटे पर जा रहे हैं, तो ज्यादा कपड़े रखने से अच्छा होगा साबुन की टिकिया साथ रखें ताकि कपड़े वहीं धोसुखा कर पहन सकें. ज्यादा वजन सैरसपाटे में बाधक बनता है.

अपने बैग में रोजमर्रा का सामान अवश्य रखें ताकि आप को वहां परेशान न होना पड़े.

– अपने साथ कुछ किताबें व एक डायरी अवश्य रखें. किताबें इसलिए कि स्टूडैंट लगें व डायरी इसलिए कि हर जगह जाने पर वहां की जानकारी नोट कर सकें. इस से कहीं भी मदद मिलने में आसानी रहती है.

– अपना बस या ट्रेन का टिकट पहले ही संभाल कर रख लें और उसे बैग में ऐसी जगह रखें ताकि निकाल कर दिखाने में आसानी रहे. अपना स्कूलकालेज का आईकार्ड या फिर आधार कार्ड भी पहचान के लिए साथ अवश्य रखें.

– यदि आप के पास कैमरा है तो साथ रखें या फिर स्मार्टफोन है तो उसे भी बतौर कैमरा इस्तेमाल कर सकते हैं. साथ ही स्मार्टफोन या डिजिटल कैमरे का चार्जर रखना न भूलें. यदि आप के पास स्मार्टफोन या कैमरा नहीं है तो अपने किसी परिचित से अरेंज कर साथ ले जाएं ताकि सैरसपाटे का हर पल यादगार बना सकें. बाद में कैमरा व स्मार्टफोन लौटाते समय फोटो कंप्यूटर में डाउनलोड करना न भूलें.

–  अपने बैग में मोटी चादर अवश्य रखें ताकि कहीं भी आराम करने के लिए बिछा कर बैठ सकें.

–  आप जहां जा रहे हैं वहां की विस्तृत जानकारी, दर्शनीय स्थल, ऐतिहासिक स्थल आदि नैट पर सर्च कर लें. साथ ही यह जानकारी भी रखें कि कम से कम खर्च में कैसे

इन जगहों पर जा कर सैरसपाटे का आनंद ले सकते हैं. मसलन, लोकल बस, ट्रेन आदि की जानकारी, किराया व अन्य सुविधाएं.

– अगर कोई दवा लेते हैं या जिस की आप को जरूरत पड़ती है उसे साथ रखें. अगर सफर में उलटी आना या जी मिचलाना जैसी समस्याएं आप के साथ होती हैं तो चटपटी गोली साथ रखें.

हिल डैस्टिनेशन पर जाना हो तो

–  सैरसपाटे के लिए यदि आप पहाड़ी इलाके में जा रहे हैं तो वहां के मौसम के अनुसार कपड़े ले जाएं. ध्यान रहे, पहाड़ी इलाकों पर जाते समय एकाध गरम कपड़ा जैसे स्वैटरजैकेट अवश्य ले जाएं, क्योंकि वहां गरमी के मौसम में भी कभीकभी रातें अधिक ठंडी होती हैं.

–  अगर आप के पास बरसाती है तो उसे साथ रखें, क्योंकि पहाड़ी इलाकों में कभी भी अचानक बरसात हो सकती है. ऐसे में बरसाती आप के काम आएगी. वैसे ऐसी चीजें इन स्थानों पर किराए पर भी मिल जाती हैं पर उस से आप का बजट बिगड़ेगा.

– ऐसे इलाकों में सैरसपाटे पर जाते समय सामान की पैकिंग पहले पन्नी के अंदर करें और बाद में बैग में रखें. इस से सामान सुरक्षित रहेगा व बरसात में गीला भी नहीं होगा साथ ही नमी से भी बचेगा.

– इन इलाकों में जाते समय यदि खाने में ड्राइफू्रट्स साथ रख सकें तो अच्छा रहेगा. सूखे मेवे ठंड में गरमी का एहसास कराते हैं.

–  पहाड़ी इलाकों में सैरसपाटे पर जाते समय फ्लैट जूते पहनें. स्पोर्ट्स शूज यहां के लिए सब से उपयोगी रहते हैं.

समुद्री इलाकों में जाएं तो

–  अगर आप सैरसपाटे के लिए समुद्री इलाकों की तरफ जा रहे हैं तो कपड़ों में लड़के निकर, टीशर्ट भी रखें. लड़कियां अपनी सुविधानुसार स्विमिंग सूट, निकर, शौर्ट्स आदि रख सकती हैं. साथ में तौलिया व अपने अंत:वस्त्रों का सैट भी अवश्य रखें.

ये भी पढ़ें- सुंदरवन: सुंदरता का खजाना

–  बीच पर जाएं तो अपने साथ कम से कम सामान ले जाएं. फ्लैट चप्पल या फ्लिपफ्लौप ऐसे इलाकों के लिए ज्यादा कंफर्टेबल रहते हैं.

–  समुद्र का पानी खारा होने के कारण पीने लायक नहीं होता इसलिए वहां मिनरल वाटर साथ ले जाएं. भूखे न रहें. नमकीनबिस्कुट आदि खाते रहें व पानी की कमी भी न होने दें.

–  बीच पर नहाते समय समुद्र में ज्यादा आगे न जाएं. लहरों से खेलना खतरनाक हो सकता है. सैल्फी लेते समय भी इस बात का ध्यान रखें.

गरम प्रदेशों में जा रहे हैं तो

–  अगर आप गरम मैदानी इलाकों में सैरसपाटे पर जा रहे हैं तो पैकिंग में टोपी और धूप का चश्मा रखना न भूलें. टोपी जहां सिर को तेज धूप से बचाएगी, वहीं चश्मा आंखों को सेफ रखेगा.

–  ऐसे इलाकों में सैरसपाटे के लिए शाम के समय जाएं तो अच्छा रहेगा. दिन में किसी ठंडी जगह पर आराम करें.

–  अगर संगीत प्रेमी हैं तो अपने साथ कोई हलका वाद्ययंत्र जैसे गिटार आदि रख सकते हैं. इस से सैरसपाटे में आप का मजा और भी बढ़ जाएगा.

–  अगर आप गरमी सहन नहीं कर पाते या नकसीर आने की समस्या है तो उस की दवा साथ रखें.

कुछ सामान्य बातें

–   जिस भी स्थान पर जाएं, वहां फोटोग्राफ अवश्य लें. उस जगह पर लगे निर्देशों का पालन भी अवश्य करें.

–   सैल्फी लेते समय सजग रहें और खतरनाक अंदाज न अपनाएं जैसे पहाड़ी पर या समुद्र में काफी आगे जा कर, बसट्रेन में लटक कर या छत पर चढ़ कर सैल्फी लेना जीवन के साथ खिलवाड़ है.

–  प्राकृतिक नजारों का लुत्फ उठाना न भूलें. आप वहां की लोकल संस्कृति से रूबरू हो जानकारी हासिल कर सकते हैं.

–  सस्ता कमरा, धर्मशाला आदि आप के रहने का खर्च कम करेंगे. अगर वहां किसी दोस्त का घर है तो उस के साथ प्रोग्राम बनाएं.

–    पहाड़ी नदियों में बिना सोचेसमझे न उतरें. इन की गहराई का अंदाजा नहीं लगता.

–   अठखेलियों से हर जगह बचें. अपने सामान का स्वयं ध्यान रखें.

ये भी पढ़ें- लाइब्रेरी थीम पर बना है ये होटल

–   ऐतिहासिक स्थानों पर घूमने जाते समय ध्यान रखें कि इमारतों की दीवारों आदि पर नाम न लिखें, जिस तख्ती पर उस स्थान का ब्योरा लिखा रहता है उस का फोटो अवश्य लें. यह बाद में ज्ञान बढ़ाने के काम आएगा.

Tags:
COMMENT