एक समय दक्षिण कोरिया की कंपनी सैमसंग ने स्मार्टफोन के बाजार में नोकिया जैसे मेगा ब्रांड को इंडियन मार्केट से कुछ ऐसे तड़ीपार किया था कि बेचारा माइक्रोसौफ्ट की गोद में बैठने के बावजूद भी आज-तक कमबैक नहीं कर पाया. हालांकि सेर को सवासेर मिल ही जाता है. इसलिए एंड्रौयड के बाजार में काबिज हो चुके सैमसंग को बीट किया चाइना के शाओमी, वीवो, वन प्लस जैसे मोबाइल ब्रांड्स ने. ये सब बजट फोन के साथ बाजार में आये और देखते ही देखते सैमसंग के हाथों से स्मार्टफोन बाजार खिसकने लगा. नतीजतन सैमसंग को अपनी रणनीति बदलने पर मजबूर होना पड़ा. अब वह भी बजट फोन लांच करता है. और अपनी टक्कर आईफोन के बजाये शाओमी के साथ मानने लगा है.

गैलेक्सी ए9 के 4 कैमरे-6जीबी रैम

बहरहाल कुछ दिनों पहले जब सैमसंग ने इंडियन मार्केट में स्मार्टफोन गैलेक्सी ए9 प्रो लौन्च किया था तो इसकी बिग बैटरी लाइफ की चर्चा थी क्योंकि यह 5000 एमएएच की बैटरी से लैस था. इसकी कीमत 32,490 रुपये है. लेकिन अब इसी सीरीज के नए मौडल सैमसंग गैलेक्सी ए9 (2018) की चर्चा है. कहा जा रहा है कि यह चार रियर कैमरों के साथ आने वाला दुनिया का पहला स्मार्टफोन है. बता दें कि इस मौडल को लेकर मलेशिया में सुगबुगाहट है लेकिन सैमसंग इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक़ इस हैंडसेट की कीमत 39,000 रुपये हो सकती है. इंटरनेशनल मार्केट में यह 599 यूरो यानी करीब 49,800 रुपये का है. 4 कैमरों के साथ इस फोन की दूसरी खासियत इसकी 6 जीबी रैम भी है.

कितने ख़ास हैं फीचर्स

सैमसंग गैलेक्सी ए9 के बाकी फीचर्स की बात करें तो इसके 4 कैमरों में पहला 24 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा है. दूसरा 10 मेगापिक्सल का टेलीफोटो कैमरा, तीसरा 8 मेगापिक्सल का अल्ट्रा-वाइड कैमरा और चौथा 5 मेगापिक्सल का डेप्थ कैमरा है. सेल्फी के शौकीनों के लिए 24 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा बोनस सरीखा है. इसके अलावा क्वालकौम स्नैपड्रैगन 660 प्रोसेसर के साथ 6 जीबी और 8 जीबी रैम के विकल्प इसे गेमर्स की पहली पसंद बनाते हैं. यह एंड्रौयड ओरियो पर रन करेगा, 6.3 इंच का फुल-एचडी यानी 1080×2280 पिक्सलमें इनफिनिटी डिस्प्ले है मूवीज फ्रीक्स के लिए बेहतरीन एक्सपीरियंस देगा. साथ में सुपर एमोलेड पैनल है ही. और फोन फेस अनलौक, बिक्सबी असिस्टेंट और सैमसंग पे जैसे पुराने फीचर्स भी हैं. इनबिल्ट स्टोरेज 128 जीबी है जो 512 जीबी तक एक्स्पेंड हो सकती है. कनेक्टिविटी फीचर में 4जी वीओएलटीई, वाई-फाई 802.11 एसी, ब्लूटूथ 5.0, यूएसबी टाइप-सी, एनएफसी और 3.5 एमएम हेडफोन जैक जैसे रेगुलर फीचर्स हैं.

किनसे होगी टक्कर

अगर इसके फीचर्स और कीमत को अन्य स्मार्टफोन मौडल्स के साथ कम्पेयर करें तो इसका सीधा मुकाबला OnePlus 6T है. बल्कि OnePlus 6T इसे कई मामलों में बीट भी करता है. जैसे OnePlus 6T की स्क्रीन साइज़ 6.41 इंच  है जबकि सैमसंग गैलेक्सी ए9 की6.3 इंच. वहीं रैम के मामले में भी यह OnePlus 6T से उन्नीस है. क्योंकि  सैमसंग के 6 जीबी के मुकाबले वन प्लस अप टू 8 जीबी रैम प्रोवाइड कर रहा है. बैटरी के मामले में दोनों एक ही प्लेटफोर्म पर आते हैं, ओवर आल सैमसंग गैलेक्सी ए9 (2018) के बाकी स्पेसिफिकेशन वनप्लस 6टी जितने दमदार नहीं हैं. इसके अलावा सीधा मुकाबला Nokia 6.1 (2018), Samsung Galaxy A9 Pro, Xiaomi Redmi Note 5 Pro और Nokia 5.1 Plus (Nokia X5) से भी होगा. ये सारे मौडल्स लगभग इसी की मत और स्पेसिफिकेशन में आ रहे है, बस रैम, बैटरी और स्क्रीन साइज में उन्नीस बीस का फर्क है.

Verdict: कितने काम का है गैलेक्सी ए9

आखिर में गैलेक्सी ए9 की ओवरआल रेपुटेशन देखें तो इसका, 24 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा, और आउट औफ बौक्स एंड्रौयड ओरियो प्लस पौइंट हैं लेकिन वजन, 3800 एमएएच की बैटरी, स्क्रीन साइज आदि बहुत इम्प्रेसिव नहीं है. सबसे बड़ी बात भारतीय मोबाइल उपभोक्ता उसी डिवाइस को ज्यादा पसंद करते हैं जो ईजी हार्डवेयर और सौफ्टवेयर के साथ मिले. दो कैमरों तक तो ठीक था लेकिन 4-4 रियर कैमरे फोन को बहुत कौम्प्लीकेटेड बनाते हैं और कन्फयूजिंग भी. इतने सारे कैमरों को पर्सनलाइज्ड करना आसान नहीं है. जैसे आईफोन ने अलग होने के चक्कर में वायरलेस हैण्ड फ्री और डिफरेंट चार्जर पोर्ट के साथ प्रयोग किया तो भारत में यह एंड्रौयड यूजर्स की मेजोरिटी के चलते अनफिट हो गया. कुल मिलाकर सैमसंग को बैटरी और रैम और हार्डवेयर पर ज्यादा काम करना चाहिए था बजाये ढेर सारे कैमरों के.

Tags:
COMMENT