लेखक- अनुराग चतुर्वेदी

लौकडाउन हुए एक महीना बीत गया था. रीमा पूरा घर का काम कर रही थी क्योंकि काम वाली लौकडाउन की वजह से नहीं आ रही थीं.  सोसायटी वालों ने उन का आना बंद करा दिया है. अशोक ने पूछा, "काम वाली के पैसे देने हैं क्या?"

मैं ने कहा, "देने तो पड़ेगे पर कौन देने जाए?”

अशोक बोले, "मैं दे आऊं?”

मैं तुरंत बोली, “इस से बढ़िया क्या होगा.” मैं ने तुरंत पैसे निकाल कर दे दिए. तब तक पड़ोस में रहने वाली किरन दिखाई दी, वो बोली, "आंटी आप काम वाली को इस महीने के पैसे दोगी?"

मैं बोली हां तो इस पर वो बोली, “अरे काम तो किया नहीं है तो फिर पैसे किस बात के?"

उस को ये उम्मीद थी कि शायद मैं भी नही दुंगी. मेरी बात सुन कर वह अपने घर में घुस गई. थोड़ी देर में सोसायटी में एक गाड़ी, जिस पर लाउडस्पीकर लगा था, उस में से लोग आवाज लगा कर कोरोना पीड़ित के लिए दान मांग रहे थे. वे लोग सोसायटी के पदाधिकारी के साथ घरों में आ गए.

मेरी घंटी बजी तो मैं ने दरवाजा खोला. मेरे पड़ोस में रहने वाली किरन मुझे देखते ही बोली "मैं ने भी दिए हैं कोरोना पीड़ितो के लिए 2 हजार रुपए आप भी दे दो." मैं ने मना कर दिया.

जब वे चले गए तो मुझ से रहा नहीं गया. मैं अपनी पड़ोसन से बोली, "ये दोहरा मापदंड क्यों किरन? एक तरफ अपनी काम वाली को जो पूरा साल तुम्हारे घर बिना नागा आती रही उसे घर बैठे पैसे देना तुम्हें खल रहा है और ये जो कोरोना पीड़ित के नाम पर चंदा मांग रहे हैं जिस में तुम्हें पता ही नहीं चलेगा कि वास्तव में उन के पास मदद पहुंची कि नहीं, उन्हें तुम 2 हजार रुपए देने में बिल्कुल भी नहीं हिचकिचाई. ये कैसा दोहरा मापदंड है?”

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...