एक दिन करोड़ीमल को खबर लगी कि धनपतलाल अस्पताल में भरती है. उस के शरीर के हर हिस्से में चोट लगी थी. कई जगह फ्रैक्चर था. खबर मिलते ही करोड़ीमल भागेभागे अस्पताल पहुंचे. देखा कि धनपतलाल के तो पूरे बदन पर पट्टियां ही पट्टियां बंधी हैं. औक्सीजन लगा है. ग्लुकोज की बोतल लटकी है. पास में बैठी उन की बीवी लाजवंती रो रही है.

COMMENT