सम्मान पाने की चाह किसे नहीं होती. हमें भी थी. सो, जीतोड़ कोशिश की और कोशिश रंग लाई, लेकिन यह सम्मान इस तरह से मिलेगा, ऐसी उम्मीद न थी.
'सरिता' पर आप पढ़ सकते हैं 10 आर्टिकल बिलकुल फ्री , अनलिमिटेड पढ़ने के लिए Subscribe Now