कहानी के बाकी भाग पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

‘‘रूपा, बेटा फ्रैश हो जाओ. दामादजी भी आते होंगे. शाम को तु झे वापस भी जाना है न,’’ मां एक बार फिर से उस के पास आ कर खड़ी हो गई. उस ने घड़ी देखी, सुबह के 10 बजे थे. वह चुपचाप स्नानघर को बढ़ गई. रूपा कानपुर चली गई और उस का इस बीच लखनऊ आना संभव न हो पाया. उस का स्वास्थ्य भी कुछ ढीला चल रहा था. आजकल उस की दिलचस्पी एक भिखारिन लड़की में बढ़ गई थी जो हर शनिवार को तेल की बालटी ले उस के दरवाजे पर खड़ी हो जाती थी. उस की उम्र 11-12 वर्ष की होगी. रूपा उसे बिठा लेती, अपने सामने खाना खिलाती, कभी कपड़ेचप्पल भी पकड़ाती. जिस दिन वह न आती, रूपा को उलटेसीधे खयाल आते.

अब वह भिखारिन भी आ कर उस के बरामदे में निश्ंिचत हो सो भी जाती, फिर नींद खुलने पर आगे बढ़ जाती. रूपा ने एक दिन उस के मन की चाह लेने को पूछा.‘‘स्कूल में पढ़ना चाहती हो?’’‘‘अम्मा से पूछ कर बताऊंगी?’’ ‘‘कहां रहती हो?’’

‘‘गंदे नाले के बगल की बस्ती में.’’ ‘‘और कौन हैं घर में?’’ ‘‘अम्मा हैं और 2 भाई भी हैं.’’ दोतीन महीना नदारद रही. फिर एक दिन प्रकट हो गई बारबार अपना दुपट्टा पेट पर डालते हुए. उस की हरकतों पर रूपा को शक हो गया. ‘‘कुछ गलत काम की हो क्या?’’

वह फफक पड़ी. ‘‘किस ने किया? पुलिस में चलोगी? अनाथालय में रहोगी?’’ रूपा घबरा उठी. ‘‘अम्मा से पूछूंगी.’’ ‘‘ठीक है, कल तुम अपनी अम्मा को ले कर ही आना. तब तक मैं दोचार जगह बात कर के रखती हूं. तुम्हें घबराने और डरने की कोई जरूरत नहीं है.’’

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...