कल भारत और औस्ट्रेलिया के बीच विशाखापटनम में पहला इंटरनेशनल ट्वेंटी20 मैच खेला गया था. उस से पहले इस सीरीज को ले कर एक विज्ञापन बनाया गया था. उस विज्ञापन में क्रिकेटर रहे वीरेंद्र सहवाग बेबी सीटर बने दिखाई देते हैं और वे औस्ट्रेलिया टीम की ड्रैस पहने कुछ गोरे बच्चों से घिरे रहते हैं. विज्ञापन में उन्हें भारत के जीतने का पक्का भरोसा होता है पर आखिरी में वे यह कहते हुए भी अपना डर जाहिर करते हैं कि कहीं मेहमान खिलाड़ी उन के अरमानों पर पानी न फेर दें.

औस्ट्रेलिया ने वीरेंद्र सहवाग का डर सही साबित कर दिया. बड़े सितारों से सजी भारतीय टीम आखिरी गेंद तक खिंचे कम स्कोर वाले पहले टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट मैच में हार गई. इस मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी की थी और सलामी बल्लेबाज शिखर धवन उर्फ ‘गब्बर’ को बाहर बैठा दिया था. उन की जगह केएल राहुल को मौका दिया गया था.

पर भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही. सब से पहले रोहित शर्मा जल्दी आउट हो गए. उन्होंने 8 गेंदों पर 5 रन बनाए और वे जेपी बेहरनडार्फ की गेंद पर स्कूप करने की कोशिश में शार्ट फाइन लेग पर आसान सा कैच दे बैठे.विराट कोहली भी 24 रन बना कर ए. जंपा की गेंद पर लांग आन पर कैच दे बैठे जबकि उस के बाद ऋषभ पंत महज 3 रन बना कर अपनी ही गलती से रन आउट हो गए.

इस बीच केएल राहुल ने दूसरा छोर संभाला हुआ था. उन्होंने 35 गेंदों पर अपने टी20 इंटरनेशनल कैरियर का 5वां अर्धशतक पूरा किया, लेकिन इस के तुरंत बाद वे कूल्टर नाइल की गेंद पर आसान सा कैच दे बैठे. कूल्टर नाइल ने अपने इसी ओवर में नए बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को भी आउट कर दिया था. उन्होंने एक रन बनाया था.

इस मैच में महेंद्र सिंह धौनी से बड़ी उम्मीद थी पर उन्होंने भी निराश ही किया. वे आउट तो नहीं हुए पर उन की धीमी बल्लेबाजी के चलते भारत आखिरी के 11 ओवरों में केवल 50 रन ही बना सका जबकि पहले के 9 ओवरों में भारत ने 76 रन बटोरे थे. इस तरह से हमारी टीम 7 विकेट पर 126 रन तक ही पहुंच पाई.
127 रनों के टारगेट का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी. 5 रन के स्कोर पर उस के मार्कस स्टोइनिस और आरोन फिंच के रूप में 2 विकेट गिर गए थे.

इस के बाद एम. शार्ट और ग्लेन मैक्सवेल ने पारी को संभाला. एम. शार्ट ने 37 रन बनाए जबकि ग्लेन मैक्सवेल ने 43 गेंदों पर 56 रनों की शानदार पारी खेली.यह मैच कभी भारत के पक्ष में जा रहा था तो कभी ऑस्ट्रेलिया के पक्ष में. आखिरी ओवर में तो रोमांच हद पर हो गया था.

दरअसल, औस्ट्रेलिया को आखिरी के 2 ओवरों में 16 रन चाहिए थे. जसप्रीत बुमराह ने 19वें ओवर में केवल 2 रन दिए और पीटर हैंडसकॉम्ब व नाथन कूल्टर नाइल को आउट कर के भारतीय खेमे में मैच जीतने की उम्मीद जगा दी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं.

मैच के आखिरी ओवर में उमेश यादव की पहली गेंद पर एक रन बना तो ए. रिचर्डसन ने दूसरी गेंद पर चौका लगा दिया. उन्होंने तीसरी गेंद पर 2 रन और चौथी गेंद पर एक रन बनाया. आखिरी की 2 गेंदों में मेहमान टीम को जीत के लिए 6 रन चाहिए थे. तब पैट कमिंस बल्लेबाजी कर रहे थे. उन्होंने 5वीं गेंद पर चौका लगाया और आखिरी गेंद पर 2 रन लेते हुए इस रोमाचंक मैच को जीत लिया.

इस तरह औस्ट्रेलिया ने भारत पर 3 विकेट से रोमांचक जीत दर्ज कर 2 मैचों की सीरीज में शुरुआती बढ़त बना ली है.

Tags:
COMMENT