बछरावां थाना क्षेत्र के अंतर्गत बछरावा मौरावा मार्ग पर स्थित गजियापुर गांव में बीती रात गांव के पुत्ती लाल की बेटी आशा देवी उम्र 22 वर्ष की शादी कार्यक्रम की तैयारियां जोरों पर चल रही थी. कुसहरी नवाबगंज जनपद उन्नाव से आई आशा की बारात में बराती ढोल नगाड़े पर नाच रहे थे. दूल्हा और दुल्हन जय माल के कार्यक्रम के लिए बने स्टेज पर बैठे थे.

दूल्हा दुल्हन एक दूसरे को वरमाला डाल रहे तभी गांव के ही दुल्हन के प्रेमी बृजेंद्र कुमार, पुत्र जागेश्वर कुमार, उम्र 26 वर्ष. प्रेमिका को दूसरे के गले में वरमाला डालना सहन नहीं हुआ और उसने अपने चाचा लोधेश्वर की लाइसेंसी डीबीबीएल बंदूक से पहले तो प्रेमिका को गोली मार दी. फिर स्टेज पर ही स्वयं को गोली मार ली और दोनों लहूलुहान हो वहीं पर गिर पड़े. घटना से मौके पर भगदड़ मच गई.

varmala

आनन फानन दोनों घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बछरावां लाया गया जहां से उन्हें जिला अस्पताल रायबरेली रेफर कर दिया गया. जहां दोनों की मौत हो गई. घटना के बाद शादी की खुशियां मातम में बदल गई. बराती व घराती बिना खाए पिए ही वापस चले गए और दोनों मृतक परिवारों में मातम छा गया.

अचानक हुई इस घटना से पूरे गांव में सनसनी फैल गई. घटना की सूचना पर कोतवाल रावेंद्र सिंह पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचे और अधिकारियों को सूचना देकर जांच पड़ताल शुरू की. घटना की जानकारी होने पर पुलिस अधिक्षक सुनील कुमार सिंह, एडिशनल एसपी शशि शेखर सिंह, क्षेत्राधिकारी आर पी शाही सहित आसपास के कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई. कोतवाल रावेंद्र सिंह ने बताया कि प्रेम प्रसंग में घटना घटित हुई है.मामले की जांच पड़ताल की जा रही है मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की जाएगी.

Tags:
COMMENT