दस साल की बच्ची से चाचा ने की ज्यादती की कोशिश…बॉक्सिंग खिलाड़ी ने की नाबालिग से ज्यादती...मंगलवार 4 अप्रैल को भोपाल के अखबारों में छपी उक्त शीर्षकों वाली खबरें इस लिहाज से जरूर चिंता का विषय थीं कि इस दिन अष्टमी का त्योहार होने के चलते घर घर में कन्या पूजन हो रहा था, नहीं तो रोज रोज कन्याओं से दुष्कर्मों की खबरें भोपाल में इतनी आम हो गई हैं कि लोगों ने इन्हे छुरेबाजी या जेबकटी की तरह रोजमरराई और मामूली जुर्म मानना शुरू कर दिया है.

COMMENT