मुलायम और अखिलेश के बीच समझौते की बाधा अमर सिंह नहीं प्रोफेसर राम गोपाल यादव हैं. मुलायम सिंह यादव ने समझौते की राह पर आगे बढ़ते हुये अमर सिंह को पार्टी से बाहर करने का मन बना लिया था. अमर सिंह अपनी ओर से सुलह के लिये इस्तीफा देने को तैयार हो गये थे. 6 जनवरी को अमर सिंह के इस्तीफा देने के बाद सुलह समझौते की राह खुल जानी थी. मुलायम खेमे की ओर से इस बात की घोषणा के लिये विक्रमादित्य मार्ग मुलायम के आवास पर शाम 4 बजे मीडिया को बुला भी लिया गया था. मुलायम सिंह यादव चाहते थे कि अगर वह एक कदम पीछे हटे तो अखिलेश खेमा भी पीछे हटे. मुलायम खेमे की ओर से कहा गया कि अमर सिंह के साथ रामगोपाल यादव का भी इस्तीफा हो.

COMMENT