70 के दशक में ‘विदेशी हाथ’ का जुमला बहुत प्रसिद्ध हुआ था. हर समस्या के पीछे इंदिरा गांधी विदेशी हाथ बताती थीं और विपक्षी दल उन का खूब मजाक उड़ाया करते थे. पिछले कुछ समय से देश में छाया ‘कालाधन’ का मुद्दा भी अब ‘विदेशी हाथ’ की तरह का जुमला बनता जा रहा है.

Tags:
COMMENT