इस साल बोल्ड, क्लासिक, कई रंगों के मिश्रण से बने गहने, मीनाकारी और अलगअलग पत्थरों से बने आभूषणों का ट्रैंड है, जिन्हें हर महिला किसी भी अवसर पर पहनना पसंद करती है. इस के अलावा क्लासिक डायमंड ज्वैलरी, जिस में हीरे के अलावा रूबी आदि के रंगबिरंगे पत्थरों को ले कर बने आभूषण भी काफी ट्रैंड में हैं.

रोज गोल्ड का भी खूब चलन है. इस से क्लासी, ऐलिगैंट लुक दिखाई देता है. इंडियन स्किन टोन पर यह बहुत अच्छा दिखता है. भारतीय परिधान ही नहीं उन के साथसाथ गहने पहनने का भी चलन आजकल जोरों पर है.

महिलाओं की पसंद

इस बारे में वोइला के ज्वैलरी डिजाइनर संजय शर्मा कहते हैं कि आज की महिलाएं हर गहने में कुछ नया खोजती हैं, इसलिए हमें उन का ध्यान रखना पड़ता है. ट्रैडिशनल बोल्ड ऐलिगैंट चोकर और इयरग्सिं इस बार खास आकर्षण में हैं, जिन्हें कभी भी पहना जा सकता है. ट्रैप्ड और प्रोटैक्टेड जैमस्टोन में पारंपरिक डिजाइनों को ले कर रत्न जड़े जाते हैं. ये कलरफुल होने की वजह से हर रंग के कपड़ों के साथ पहने जा सकते हैं. आजकल फ्लूइड फौर्म के कपड़े अधिक पहने जाते हैं. ऐसे में उन्हें और अधिक सुंदर बनाने के लिए फ्लूइड वाले गहनों का प्रयोग अच्छा रहता है.

फ्रिल्स और रफल्स वाले परिधान में सब से अधिक गहने पसंद किए जाते हैं. कई रंगों के मिश्रण से बने ये गहने महिलाओं को बेहद पसंद आते हैं. कलर ट्रैंड की बात करें, तो पेस्टल ग्रीन और औरेंज वैडिंग या किसी त्योहार में पहने जा सकते हैं.

कैजुअल वियर के साथ इंडिगो ब्लू, डार्क ब्लू, इंडिगो टर्क्वाइश ब्लू आदि रंगों के गहने पौपुलर हैं. ये गहने किसी भी अवसर पर पहने जा सकते हैं. इन के अलावा सिल्वर औक्सिडाइज्ड गहने किट्टी पार्टी या फिर गरबा आदि के समय पहने जा सकते हैं.

कामकाजी महिलाओं की पसंद

गहनों को डिजाइन करते समय 3 बातों का ध्यान रखना पड़ता है. मसलन, उन की ऐस्थैटिक वैल्यू, पहनने में आरामदायक और कम दाम होना, क्योंकि आजकल की महिलाएं कम दाम में सुंदर डिजाइनें खोजती हैं, जो हर अवसर पर पहनी जा सकें.

ब्राइडल ज्वैलरी में महिलाएं हर तरह के गहने पहनती हैं, जैसे कि मांगटीका, नथ, गले का चोकर, मध्यम हार, लौंग हार, कानों में झुमके या चांद बाली, बाजूबंद, हथफूल, कमरबंद, पायल, बिछिया आदि. इन में भी चोकर नैकलैस सब से अधिक पौपुलर है.

इन के अलावा 38 इंच से 40 इंच लंबी ट्रैडिशनल चेन भी किसी पार्टी में महिला की खास शोभा बढ़ाती है. बड़े इयररिंग्स का भी आजकल अधिक प्रचलन है. इन में नैकपीस न पहनने पर भी आप की खूबसूरती कायम रहती है.

औफिस जाने वाली महिलाओं की पसंद आम महिला से अलग होती है. वे अधिकतर छोटे झुमके, छोटे इयररिंग्स नौर्मल क्लासिक ड्रैस के साथ पहनना पसंद करती हैं. वे अधिकतर ऐसे गहने खरीदती हैं जो उन की हर तरह की ड्रैस के साथ पहने जा सकें.

चलन में गहने

संजय कहते हैं कि ट्रैंड से भी ज्यादा गहने चेहरे के अनुसार पहने जाने चाहिए. ओवल, राउंड, स्क्वेयर चेहरे वाली महिलाओं को इस का ध्यान रखने की जरूरत है. ओवल शेप चेहरे वाली महिला के लिए मार्किज शेप के कान के गहने अच्छे लगते हैं, जबकि राउंड शेप में झुमके पहनना अच्छा रहता है, स्क्वेयर शेप चेहरे के लिए ज्यामितीय आकार के कान के आभूषण अच्छे लगते हैं.

टीनऐजर लड़कियों में छोटे कलरफुल, डैलिकेट गहने पहनने का अधिक ट्रैंड है. अभी नोज पिन और नोज क्लिप्स का प्रचलन उन में अधिक है. इसे वे वैस्टर्न परिधानों के साथ आसानी से पहन सकती हैं.

मिडिल ऐज में ट्रैडिशनल, बारीक काम किए क्लासिक, फाइन गोल्ड के आभूषण अधिक पसंद किए जाते हैं. इस के अलावा झुमके, चांदबाली, जाली का काम, डायमंड लुक अधिक ट्रैंड में हैं. 50 से अधिक उम्र की महिलाओं के लिए सिंगल लाइन नैकनैस, कुंदन नैकलैस, प्योर डायमंड या गोल्ड के हाथों के कड़े आदि अधिक पौपुलर हैं.

आजकल कलरफुल ज्वैलरी भी खास प्रचलन में है, जिस में नैचुरल स्टोन लगाया जाता है. इस से गहने का दाम अधिक बढ़ जाने की वजह से कई बार सेमीप्रिसिअस स्टोन का भी प्रयोग सोने में किया जाता है, जो देखने में रियल लगता है और बजट में आ जाता है.

COMMENT