लेखिक- सुधा सक्सेना

मेरे पापा की हम 3 बेटियां और हमारा एक भाई है. मेरे भैया और बड़ी बहन की शादी होने के बाद मेरी मम्मी की मृत्यु हो गई. मुझ से बड़ी बहन की भी शादी हो गई तो घर में मैं और पापा ही रह गए. बहन की शादी के बाद मैं अपने पापा का पूरा ध्यान रखती और अपनी पढ़ाई भी करती थी. लेकिन पापा और भैया के बीच अकसर झगड़ा होता था. जिस के कारण पापा बीमार रहने लगे. उसी बीच पापा ने मेरी भी शादी कर दी. फिर वे अकेले पड़ गए. मेरी शादी के डेढ़ साल बाद वे बहुत ज्यादा बीमार हो गए. डाक्टर ने जवाब दे दिया. मैं अपनी ससुराल से पीहर पहुंच गई और उन की देखरेख करती रहती थी. कमजोरी के कारण वे बिस्तर से नहीं उठ सकते थे. मैं ने उन का पूरा ध्यान रखा.

Tags:
COMMENT