जिद्दी बच्चे चाहे छोटे हों या बड़े, उन से डील करना पेरैंट्स के लिए बहुत बड़ा चैलेंज होता है. बच्चा अगर शुरू से जिद्दी है तो डेली लाइफ की चीजें, जैसे सोना, खाना या नहाना उन के साथ रोज का एक युद्ध बन जाता है. निधि और राघव की शादी हुए एक महीना ही हुआ था. एक दिन एक छोटी सी बात पर निधि की राघव से लड़ाई हो गई. 3 भाइयों की इकलौती बहन निधि स्वभाव में थोड़ी तेज थी. पति से तकरार हुई तो वह उस पर ?ापट पड़ी. राघव ने खुद को बचाते हुए उसे धक्का दिया तो वह जमीन पर जा फिसली. इसी बीच छोटे देवर ने दौड़ कर उसे उठाया और कमरे में ले गया.

राघव गुस्से में घर से बाहर चला गया. उस वक्त निधि के सासससुर घर पर नहीं थे. देवर ने यह सोच कर कि थोड़ी देर में भाभी ठीक हो जाएंगी, अपने कालेज चला गया. मगर निधि के सिर पर तो जैसे जनून सवार हो गया. उस ने चार कपड़े बैग में डाले और रिकशा कर के मायके चली गई. निधि का मायका उस की ससुराल से कुछ ही दूरी पर था. वहां पहुंच कर उस ने राघव के बारे में अपने भाइयों और मातापिता से दो की चार लगाईं. वह मु?ो मारता है, गंदीगंदी गालियां देता है, पता नहीं क्या देख कर आप लोगों ने मेरी शादी उस घर में कर दी आदि जैसी बातें रोरो कर सुना डालीं. निधि की बातें सुन कर उस का बड़ा भाई सुरेश तैश में आ गया. सुरेश का अपनी बहन से कुछ ज्यादा ही स्नेह था. सुरेश सब भाईबहनों में सब से बड़ा था और घर के ज्यादातर कामों में उस की राय ली जाती थी.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...