मशहूर लोकगायिका मालिनी अवस्थी आज के कानफोड़ू संगीत के दौर में अपने लोकगीतों की मिठास से संगीत प्रेमियों का दिल जीत रही हैं. तमाम विपरीत परिस्थितियों के बावजूद सफलता के मुकाम पर पहुंची मालिनी से कुमार अभय ने बातचीत की.

लोककला के क्षेत्र में मालिनी अवस्थी एक जानापहचाना नाम है. इस क्षेत्र में उन के विशिष्ट योगदान के आधार पर भोजपुरी अकादमी ने उन्हें अपना अंतर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक राजदूत यानी ब्रैंड एंबैसेडर बनाया था. लेकिन मनोज तिवारी सहित भोजपुरी फिल्मों के कई कलाकारों के विरोध के चलते मालिनी अवस्थी ने यह कहते हुए इस पद को छोड़ दिया कि कोई भी पद कला से ऊपर नहीं है. गौरतलब है कि मालिनी को ले कर यह विवाद इसलिए हुआ था क्योंकि वे भोजपुरी के बजाय अवधी भाषा की हैं.

Digital Plans
Print + Digital Plans
COMMENT