डायबिटीज के रोगी को ब्लडशुगर कंट्रोल में रखने के लिए सही फूड्स का चयन करना जरूरी है. अगर नाश्ते में खास तरह के कुछ फूड्स का सेवन किया जाए तो ब्लडशुगर लैवल को नियंत्रण में रखा जा सकता है. जिसे डायबिटीज रोग हो गया, उसे जीवनभर यह रहता है. डायबिटीज की हालत में हमारा शरीर या तो पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं कर रहा होता है या उत्पादित इंसुलिन का रिस्पौंड नहीं दे पाता है.

मैक्स सुपरस्पैशलिटी हौस्पिटल, साकेत, नई दिल्ली की डायबिटीज एजुकेटर डाक्टर मंजू पंडा कहतीं हैं, ‘‘डायबिटीज रोगियों को नियमित अंतराल में भोजन करते रहना चाहिए ताकि अचानक ब्लडशुगर में कमी न हो. इस के अलावा फाइबर और एंटीऔक्सीडैंट से भरपूर आहार का सेवन करना चाहिए. इस बात का खास ध्यान रखें कि सुबह के नाश्ते और दोपहर के लंच के बीच के टाइम, जिस को प्रीलंच कहते हैं, में हलकाफुलका कुछ खाएं.’’ वहीं, आप को अपने भोजन को डिवाइड करते समय इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि आप को अपनी डाइट में रोजाना कितनी कैलोरी लेनी है क्योंकि डायबिटिक रोगियों के लिए ज्यादा कैलोरी नुकसानदायक होती है, यह शुगर और वजन बढ़ाती है..

ये भी पढ़ें- बढ़ता वायु प्रदूषण: समस्या और समाधान

1.मौसमी फल : लोकल या मौसमी वे फल जो फाइबर में उच्च और ग्लाइसीमिक इंडैक्स में कम हैं, आप के ब्लडशुगर के उतारचढ़ाव को कंट्रोल करने में मदद कर सकते हैं.

2. पालक और पत्तागोभी का जूस : अकसर जूस में सब्जी या फल की फाइबर सामग्री कम हो जाती है, इसलिए इन्हें ऐसे ही खाने की सलाह दी जाती है. हालांकि, एक बार जूस पीने में कोई बुराई नहीं है. लेकिन यह सुनिश्चित करें कि यह ताजा, घर का बना और नैचुरल हो. आप चाहे तो ताजे पालक के पत्तों के साथ पत्तागोभी के पत्तों को एकसाथ मिला कर, थोड़ा सा पानी डाल कर ब्लैंड कर के ऐसे ही पीने की कोशिश कर सकते हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT