गर्मियों में थोड़ी से लापरवाही आपको बीमार कर सकती है. आप कई बीमारियों से घिर सकते हैं, उन्ही बीमारियों में एक है एनीमिया. जो शरीर में आयरन की कमी होने से होने से होती है. शरीर में आयरन की कमी होने से हीमोग्लोबिन का स्तर कम हो जाता है जिसे एनीमिया जाता है.

हीमोग्लोबिन लाल रक्त कोशिकाओं में पाया जाने वाला ऐसा प्रोटीन है, जो पूरे शरीर ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करता है और हीमोग्लोबीन की कमी से शरीर की कोशिकाओं में ऑक्सीजन की कमीहोने लगती है और इसी कमी की वजह से व्यक्ति में एनीमिया के लक्षण दिखाई देने लगते हैं. शरीर को पर्याप्त पोषण नहीं मिलने पर या हरे पत्तेदार सब्जियां का सेवन नहीं करने पर रक्त में आयरन की कमी हो जाती है.

ये भी पढ़ें- पेट को फिट रखे प्रोबायोटिक

एनीमिया के प्रमुख लक्षण

* अत्यधिक थकान.

*  जीभ का रंग सफेद होना.

* चेहरा सफेद या पीला पड़ना.

* जल्दी-जल्दी बीमार पड़ना.

* हाथ-पैरों में झनझनाहट.

* सिरदर्द रहना.

* कभी-कभी चक्कर आना और आंखों के आगे अंधेरा छा जाना .

* हृदय गति असामान्य होना.

* खाने खाने का मन नहीं करना.

* नाखूनों की रंगत सफेद पडना

* आंखों के नीचे काले घेरे होना.

एनीमिया का निदान :-

रोगी की रक्‍त जांच के जरिए डॉक्टर आसानी से एनीमिया के पहचान कर लेते हैं. इसके अलावा वे रोगी की अन्य जांच भी करवाते हैं जिससे एनीमिया की मुख्य वजह का पता लगाया जा सके. एनीमिया का इलाज पूरी तरह से संभव है. रोगी की शरीर की जांच व चिकित्सीय इतिहास का इसमें अहम रोल होता है. कई बार रोगी के परिवारिक इतिहास में एनीमिया की समस्या होती है जिससे वो इसका शिकार हो जाता है. इसके अलावा कोई अन्य गंभीर बीमारी होने पर भी इसके लक्षण दिखाई देते हैं. एनीमिया किसी बीमारी का लक्षण मात्र है और डॉक्टर रोगी की जांच के जरिए इस बीमारी के बारे में पता लगाने की कोशिश करते हैं. एनीमिया के निदान के लिए निम्न जांच की जाती हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT