इस वर्ष फुटबौल में इंडियन वूमंस लीग में लड़कियों के लिए नए द्वार खोल दिए गए हैं. सामाजिक भेदभाव को तोड़ते हुए लड़कियां अब फुटबौल में बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रही हैं. मगर इतने बड़े देश में 5-7 राज्यों को छोड़ दीजिए तो महिला फुटबौल की स्थिति अभी भी बहुत अच्छी नहीं है.

COMMENT