हरियाणा की साक्षी मलिक और हैदराबाद की पी वी सिंधु ने रियो ओलिंपिक में पदक दिला कर भारत की इज्जत उतरने से बचा ली. इस के अलावा भारत की इन दोनों बेटियों ने भ्रूणहत्या करने वालों को भी एक संदेश दिया है कि देखो, बेटियों ने ही देश की इज्जत रख ली. आधुनिक युग में बेटियों को जन्म से पहले ही मां की कोख में मार दिया जाता है. यह अपराध भी है और बेवकूफी भी. दुख तब होता है जब एक मां की भी इस अपराध में सहभागिता होती है. उस मां को यह सोचना चाहिए कि वह भी किसी की बेटी है.

COMMENT