गन्ने की खेती लंबे अरसे तक चलने वाली फसल है. एक बार गन्ने की बोआई कर दी, तो 2-3 साल तक आप उस से उपज ले सकते हैं. लेकिन गन्ने की बोआई व कटाई दोनों ही ऐसे काम हैं, जिन में दूसरी फसलों से अधिक मेहनत लगती है. ये दोनों काम अगर पारंपरिक तरीके से किए जाते हैं, तो खासी मेहनत के साथसाथ ज्यादा मजदूरों की भी जरूरत पड़ती है, जो एक अलग समस्या है. इन कामों को करने में अगर कृषि यंत्रों का इस्तेमाल किया जाए, तो आसानी के साथसाथ समय की बचत हो जाती है. यहां हम गन्ना बोआई यंत्र, जिसे शुगरकेन प्लांटर भी कहा जाता है, के बारे में जानकारी दे रहे हैं. शुगरकेन प्लांटर गन्ना बोने का एक ऐसा यंत्र है,

जो गन्ने की बोआई उचित दूरी व उचित गहराई पर करता है. इस शुगरकेन प्लांटर को ट्रैक्टर के साथ जोड़ कर चलाया जाता है. इस यंत्र से बोआई करने पर गन्ने के साथ अन्य फसलें भी ले सकते हैं. इस तरह की फसलों को गन्नों की लाइनों के बीच में लगाया जाता है. गन्ना लंबी अवधि की फसल होती है, इसलिए इस से बीच में गन्ने के साथ लहसुन, प्याज, धनिया, गोभी, बंदगोभी जैसी फसलें भी ली जा सकती हैं. गन्ना रोपाई यंत्र को छोटे कृषि यंत्र निर्माता से ले कर बड़े कृषि यंत्र निर्माता बनाते हैं, जिस की कीमत उस की कूवत के अनुसार होती है. यह यंत्र एक लाइन से ले कर कई लाइनों में गन्ने की बोआई करता है. जितनी ज्यादा लाइन में बोआई करने वाला यंत्र होगा, तो उस की कीमत भी ज्यादा होगी.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

डिजिटल

(1 साल)
USD10
सब्सक्राइब करें

डिजिटल + 24 प्रिंट मैगजीन

(1 साल)
USD79
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...