फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सऐप चाहे कितना ही वादा कर लें कि उन के सदस्यों के राज उन के पास सुरक्षित हैं, लेकिन ऐसा होता नहीं है. सच यह है कि जैसे ही आप इन से जुड़ते हैं, यह मानिए कि आप अपने कपड़े उतार कर उन्हें पकड़ा देते हैं. फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सऐप आप को नंगा कर के आप की भरेबाजार नीलामी करते हैं. ये कंपनियां इतनी सौफिस्टीकेटिड साइटें मुफ्त में नहीं देतीं, आप की निजता को पूरी तरह बेचती हैं.

अमेरिका की एक औरत ने जम कर इन को लताड़ा है कि जब वह गर्भवती हुई तो उन्होंने उस की सर्चों और फोटोग्राफों से पता लगा लिया और उस के पास जम कर बेबी प्रोडक्ट्स के विज्ञापन बरसने लगे और जब गर्भवती का शिशु गर्भ में ही मर गया तो भी उन्होंने विज्ञापन भेजने बंद नहीं किए, क्योंकि यह जानकारी उन के पास अगर थी भी तो भी वे विज्ञापनदाताओं को नहीं दे रही थी कि कहीं वे विज्ञापन देना बंद न कर दें. उस ने जब इन विज्ञापनों को ब्लौक कर दिया तो उस के पास बच्चे गोद लेने के विज्ञापन आने लगे. वे विज्ञापन उसे उकसाने लगे कि जो जेब में है, दे दो.

आज के युवा अगर यह समझते हैं कि उन के प्रेम की चैटिंग उन के बीच ही है तो वे गलतहफहमी में हैं. यह चैट असल में पब्लिक नौलेज बन सकती है. हां, इस के लिए ऐक्सपर्ट हैकर की जरूरत है जो आप के अकाउंट के राज खोल सके. हां, यह संभव है कि आम हैकर को राम और शंकर में कोई रुचि न हो और वह उन की चैट को हैक करने में समय न लगाए पर यदि उन्होंने शादी से पहले सैक्स करते हुए मोबाइल पर पूरी पोर्न वीडियो बना डाली हो, तो हो सकता है कि वह वीडियो किसी रूसी साइट पर दिखने लगे और वहां से घूमतेघामते सालदोसाल में भारत में भी आ जाए.

यह भी हो सकता है कि ‘आई लव यू,‘ ‘आई कांट टू मिस यू,’ ‘आई कांट टू सी यू नेकेड’ लिखते ही कंडोमों और अबार्शनों के विज्ञापन दिखने लगें. यह मोबाइल आप के सारे राज उसी तरह खोल सकता है जैसे पहले तकिए में छिपे प्रेमपत्र मां के हाथों लग जाते थे. मोबाइल इंस्टैट लव का तरीका है पर यह खतरों से खाली नहीं है. जो मजा आमनेसामने प्रेम के इजहार में है, वह और कहीं नहीं. चैटिंग की जगह बातें करिए. फोटो न भेजें, चैट न करें, क्योंकि वे गलत हाथों में पड़ सकते हैं. मोबाइल टैक्निक आप को खंजर भोंक सकती है. सो, होशियार रहें.

Tags:
COMMENT