कुछ समय पहले तक गांव, कसबे और शहर में मेहतरमेहतरानियों द्वारा सिर पर मैला उठा कर ले जाने और फिर दोबारा हाथ धोपोंछ कर घरों से रोटी ले जाने के दृश्य आम थे. नाई द्वारा दलितों के बाल काटने व दुकानदार द्वारा इन्हें चाय देने से मना करने जैसे विवाद भी आम थे.

COMMENT