उत्तर प्रदेश के जिला हरदोई के रज्जाकखेड़ा गांव में पूरनलाल सपरिवार रहता था. वह
खेतीकिसानी का काम करता था. उस के परिवार में पत्नी रमावती के अलावा 2 बेटियां थीं, नीलम (18 साल) और कोमल (15 साल). साथ ही 2 बेटे भी थे, शुभम (16 साल) और शिवम (13 साल). पूरनलाल भले ही कम पढ़ालिखा था लेकिन वह अपने सभी बच्चों को पढ़ा रहा था. नीलम बीएससी कर रही थी. शुभम 12वीं कक्षा में तो कोमल 10वीं में पढ़ रही थी.

Tags:
COMMENT