वैसे तो मोबाइल पर अक्सर ही कई तरह के मैसेज आते हैं जो हमें काफी परेशान करते हैं पर इन दिनों मोबाइल पर आने वाले मैसेजेस में एक मैसेज ऐसा आ रहा है जो शायद हर किसी को बार बार परेशान कर रहा है. यह मैसेज स्टेट बैंक औफ इंडिया का तरफ से किया जा रहा है, मैसेज यह रहता है कि आपके खाते से 147.50 रूपए काट लिए गए हैं.

business

स्टेट बैंक औफ इंडिया से मिल रहे इस तरह के मैसेज आने पर अकाउंट होल्डर्स को यह नहीं पता कि उनके खाते से इतनी राशि किस बात की काटी जा रही है. गौरतलब है कि इस तरह के मैसेज से परेशान हो कर सुप्रीम कोर्ट के जज ने भी आवाज उठाई थी. बता दें कि कई खाताधारकों ने तो ट्वीटर पर एसबीआई हैशटैग करते हुए अपनी शिकायत भी दर्ज कराई है, क्योंकि खाताधारक यह नहीं जानते की इस तरह से पैसे क्यों काटे जा रहे हैं.

आइये जानते हैं क्यों काटे जा रहे हैं आपके अकाउमट से पैसे और इसकी शिकायत आप कहां और किस तरह कर सकते हैं.

एटीएम वार्षिक चार्ज

स्टेट बैंक भले ही इसकी जानकारी खाताधारकों को न दे रहा हो, लेकिन इसकी जानकारी आप अपने अकाउंट स्टेटमेंट से पता कर सकते हैं. बैंक ने अपने ग्राहकों के खाते से ये चार्ज एटीएम एनुअल चार्ज के तौर पर काटा है.

जीएसटी भी जुड़ा

स्टेट बैंक द्वारा काटी गई राशि एटीएम एनुअल चार्ज है जो कि जीएसटी समेत काटा गया है. इस चार्ज में बीते वर्ष बढ़ोतरी की गई थी.

business

हर कार्ड पर चार्ज अलग

गौरतलब है कि बैंक द्वारा दिए जाने वाले हर तरह के कार्ड के लिए चार्ज अलग-अलग होते हैं. जैसे गोल्ड कार्ड के लिए अलग और सिल्वर के लिए अलग.

ऐसे करें शिकायत

इस कटौती को लेकर अगर खाताधारक बेहद परेशान हैं और उन्हें समझ नहीं आ रहा कि इसकी शिकायत कहां और कैसे करें तो उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है, अगर आपको इस तरह की कटौती से आपत्ति हैं तो आप अपनी शिकायत अपने मोबाइल से ‘UNHAPPY’ लिखकर 8008202020 पर भेज सकते हैं. साथ ही आप बैंक से औनलाइन भी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं.

आपके शिकायत करने के बाद बैंक 10 दिनों के अंदर आपकी शिकायत का निपटारा करेगा. अगर बैंक ऐसा करने में विफल होता है तो आप नोडल औफिसर और स्टेट बैंक औफ इंडिया के चेयरमैन से भी शिकायत कर अपनी परोशानी का समाधान पा सकते हैं.

Tags:
COMMENT