जौन अब्राहम और प्रेरणा अरोड़ा के बीच फिल्म‘‘परमाणु : ए स्टोरी आफ पोखरण’’का विवाद बहुत ही बुरे मोड़ पर पहुंच गया है. गत माह मुंबई उच्च न्यायालय के आदेश का पालन न किए जाने पर दुबारा इस मसले की सुनवाई जब तीन दिन पहले अदालत में शुरू हुई, तो अदालत ने पाया कि प्रेरणा अरोड़ा व अर्जुन एन कपूर की कंपनी ‘क्रियाज इंटरटेनमेंट’ अदालत को भी गुमराह कर रही थी. इस मामले पर सुनवाई पूरी होने पर मुंबई उच्च न्यायालय के न्यायाधीश शाहरुख काथावाला ने दस मई को इस विवाद पर फैसला सुनाते हुए फिल्म‘‘परमाणु’’पर  ‘क्रियाज इंटरटेनमेंट’’का कोई हक न होने का फैसला सुनाया.

Tags:
COMMENT