2007 की सफलतम फिल्म ‘नमस्ते लंदन’ की सिक्वअल फिल्म ‘नमस्ते इंग्लैंड’ देखकर अहसास होता है कि फिल्मकार ने बेमन से फिल्म बनायी है. शुरू से अंत तक फिल्म में ऐसा कुछ नही है, जिसके लिए दर्शक अपनी गाढ़ी कमाई के पैसे व अपना बहुमूल्य समय बर्बाद कर इस फिल्म को देखना चाहेगा.

COMMENT