‘‘मुन्नाभाई एमबीबीएस’’ व ‘‘पीके’’ सहित कई सफल फिल्में निर्देशित कर चुके फिल्मकार राजकुमार हिरानी पहली बार अपने दोस्त व अभिनेता संजय दत्त के जीवन पर बायोपिक फिल्म ‘‘संजू’’ लेकर आए हैं. पूरी फिल्म देखकर एक बात उभरकर सामने आती है कि फिल्मकार का मकसद कई बुराइयों के बावजूद संजय दत्त को एक साफ सुथरी इमेज वाला कलाकार बताना ही रहा है और इसके लिए फिल्म में संजय दत्त की इमेज को बिगाड़ने या उन्हें टाड़ा के तहत गिरफ्तार किए जाने पर भी संजय दत्त की इमेज खराब करने के लिए अखबार, न्यूज चैनलों व पत्रकारिता को ही कटघरों में खड़ा किया गया है. इसी के चलते फिल्मकार ने फिल्म में संजय दत्त के व्यक्तिगत जीवन को पेश करने से खुद को दूर ही रखा.

Tags:
COMMENT