26 नवंबर, 2008 को मुंबई में हुई आतंकवादी घटना को टीवी पर लाइव दिखाया गया था. 3 दिन तक चली कमांडो कार्यवाही के बाद एक आतंकवादी मोहम्मद अजमल आमिर कसाब जिंदा पकड़ा गया, बाकी 9 आतंकवादी मारे गए थे.
रामगोपाल वर्मा ने परदे पर जो कुछ दिखाया है, वह आधाअधूरा है. उस ने ताज होटल, लियोपोल्ड कैफे, छत्रपति शिवाजी टर्मिनस आदि पर हुआ हमला तो दिखा दिया, मगर ताज होटल में आतंकवादियों द्वारा विस्फोट कर आग लगाने वाली घटना के साथसाथ वहां हैलिकौप्टर से उतरे कमांडो द्वारा की गई कार्यवाही को नहीं दिखाया.

COMMENT