बौलीवुड में बायोपिक फिल्में काफी बन रही हैं. ‘‘72 आवर्स मर्टियार हूं नेवर डाइड’भी 1962 में भारत-चीन युद्ध के समय तीन सौ चीनी सैनिकों के साथ लगातर 72 घंटे तक युद्ध करते हुए शहादत पाने वाले राइफलमैन जसवंत सिंह रावत की बायोपिक फिल्म है. फिल्म का मर्म समझने के लिए फिल्म में सूत्रधार का संवाद ‘‘तुम्हारे आने वाले कल के लिए उन्होंने अपना आज कुर्बान कर दिया’’ काफी है. गणतंत्र दिवस से पहले इस फिल्म का सिनेमाघरो में पहुंचना एक अच्छा प्रयास है. मगर कमजोर पटकथा के चलते फिल्म अपना प्रभाव छोड़ने में असफल रहती है.

Tags:
COMMENT