रंगों से रंगीन घर साफ करें ऐसे

होली का नाम सुनते ही मन उमंगों से भर उठता है. जानिए, होली के बाद घर की दीवारों, फर्श आदि पर लगे रंगों के दाग धब्बों को साफ करने के आसान तरीके...

सरिता विशेष

होली पर्व का नाम सुनते ही मन रंगरंगीली उमंगों से भर उठता है. होली रंगों का त्योहार है. इसे एकदूसरे पर गुलाल लगा कर मनाया जाता है परंतु आजकल गुलाल के साथसाथ लोग रंगों का भी प्रयोग करते हैं. अकसर घरों में एकदूसरे को रंग लगाते समय या रंग से बचने के प्रयास में रंग यहांवहां गिर जाता है. प्राकृतिक रंगों के दागधब्बे जहां आसानी से निकल जाते हैं, वहीं आजकल बाजार में उपलब्ध रासायनिक रंगों के दागधब्बों को साफ करना बड़ी चुनौती होती है.

यहां प्रस्तुत हैं, कुछ ऐसे उपाय जिन से घर की दीवारों, फर्श आदि पर लगे रंगों के दागधब्बों को आसानी से साफ किया जा सकता है :

दीवारें

– ध्यान रखें कि केवल उन्हीं दीवारों को साफ किया जा सकता है जिन पर वाशेबल डिस्टैंपर किया गया हो.

औयल बाउंड डिस्टैंपर वाली दीवारों की सफाई खुद करने का प्रयास न करें.

– वाशेबल पेंट की दीवारों को साफ करने के लिए पानी और साबुन का घोल बना कर गीले कपड़े और स्पंज से साफ करें.

– ब्रैंडेड पेंट को दीवारों से कैसे साफ किया जाए, इस की जानकारी कंपनी की वैबसाइट पर दी होती है. उसे पढ़ कर भी दीवारों को साफ किया जा सकता है.

– पानी प्रतिरोधी रंगों से रंगी दीवारों को साफ करने के लिए स्टेन ब्लागर की भी मदद ले सकती हैं. इस से दीवारों पर दागधब्बे नहीं लगते.

– यदि सादे पानी के प्रयोग से दीवारें साफ न हों तो टचअप का प्रयोग करें.

 हलका सा टचअप कर के आप अपनी दीवारों को नया लुक दे सकती हैं. इस से आप की दीवारें बिलकुल नई सी लगने लगेंगी.

– टचअप करने का प्रयास आप स्वयं न करें. इस के लिए प्रोफैशनल की मदद लें अन्यथा शेड का हलका सा डिफरैंस भी दीवारों का लुक खराब कर देगा.

– दीवारों पर पड़े धब्बों को कभी बेकिंग पाउडर या ब्लीच से साफ करने का प्रयास न करें अन्यथा उन का रंग हलका पड़ जाएगा.

फर्श

– जहां तक संभव हो फर्श पर गिरे रंग को तुरंत साफ करने का प्रयास करें और यदि ऐसा करना संभव न हो तो उस पर थोड़ा सा पानी डाल दें ताकि रंग का धब्बा न पड़ने पाए.

– हलकेफुलके धब्बों को साबुन के पानी से एक नायलौन ब्रश से हलके हाथ से रगड़ कर साफ करें ताकि फर्श पर स्क्रैच न हो.

– अधिक पक्के धब्बों को साफ करने के लिए 2 बड़े चम्मच बेकिंग पाउडर में 1 छोटा चम्मच पानी मिला कर पेस्ट बनाएं और उसे धब्बों पर लगा कर आधे घंटे के लिए छोड़ दें. फिर साफ कपड़े से पोंछ दें. यदि धब्बे फिर भी न छूटें तो इस प्रक्रिया को 2-3 बार दोहराएं.

– पक्के धब्बों को साफ करने के लिए हाइड्रोजन पैराक्साइड को स्पंज पर लगा कर फर्श पर रगड़ें.

– यदि आप का फर्श सफेद संगमरमर का है, तो उस पर तरल ब्लीच का प्रयोग करें.

परंतु रंगीन और लैमिनेटेड फर्श पर ब्लीच का प्रयोग न करें अन्यथा यह उस का रंग फीका कर देगा.

– लकड़ी के फर्श पर गिरे सूखे रंग को तुरंत पोंछ कर साफ करें. यदि गीला रंग गिरा है तो साफ सूती कपड़े को ऐसिटोन में भिगो कर हलके हाथ से रगड़ते हुए साफ करें. ध्यान रखें कि कई बार इस से नाजुक फर्नीचर की पौलिश भी निकल जाती है. ऐसे में धब्बे हटाने के बाद पुन: पौलिश करवा लें.

जहां तक संभव हो रंग और पानी की व्यवस्था घर से बाहर ही करें और एक बार रंग या गुलाल लग जाने पर आप स्वयं भी बारबार अंदरबाहर न आएंजाएं.

इस से आप व्यर्थ की परेशानियों से बच जाएंगी. 

Private: घर साफ रखना

यदि आप भी अपने घर की सुंदरता में चार चांद लगाना चाहती हैं तो इन बातों को जरूर अपनाएं...

मंजरी शर्मा | January 20, 2015
सरिता विशेष

अपने घर को लोग सुंदर से सुंदर बना कर रखना चाहते हैं. इस के लिए वे प्रयास भी करते हैं. लेकिन लोग घर संवारने के नाम पर परदे अच्छे लगा देते हैं, घर में डेकोरेशन का अन्य सामान ला कर रख देते हैं, जबकि कुछ और भी बातें हैं, जो घर संवारने में महत्त्व रखती हैं. अकसर कई छोटीछोटी बातें हमारे ध्यान में नहीं आती हैं जिन पर ध्यान देना भी जरूरी है, क्योंकि यही वे चीजें हैं, जो ध्यान न दिए जाने पर सजेसजाए घर की सुंदरता बिगाड़ देती हैं. आइए, जानते हैं, इन के बारे में :

सुंदर बाथरूम

स्नानगृह में बाथटब को चमकाने के लिए मिट्टी का तेल सर्वोत्तम है. मिट्टी का तेल लगाने से बाथटब में पैदा हुए विषाणु भी नष्ट हो जाते हैं. सर्दी के दिनों में बाथरूम में अकसर गरम पानी का प्रयोग किया जाता है, जिस के कारण उठने वाली भाप से वहां लगे पेंट की पपड़ी निकलने लगती है. इसे बचाने के लिए बाथरूम में हमेशा पहले ठंडे पानी का नल खोलें उस के बाद गरम पानी मिलाएं.

लकड़ी की देखभाल

लकडि़यों में लगे धब्बों को हटाने के लिए जूते की पौलिश सब से उपयोगी है. एक खाली बरतन में 2 या 3 अलगअलग रंगों की पौलिश मिला लें. इस के बाद सूखे कपड़े की मदद से इसे धीरेधीरे लगाएं. लकड़ी अपने पहले वाले रंग में दिखाई देने लगेगी.

बिजली का सामान

बिजली के सामान में लगी तारों में आजकल अधिकतर कपड़ा लिपटी तारों का उपयोग किया जाता है. इन तारों पर अगर मोम रगड़ दी जाए तो सालोंसाल इन्हें बदलने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

फूलों की देखभाल

ताजे गुलाब के फूलों के साथ अगर आप गुलाब की कलियां भी लगाना चाहती हैं और यह भी चाहती हैं कि ये कलियां काफी दिनों तक सुरक्षित रहें तो पानी में डालने से पहले इन की डंडियों को नीचे की तरफ से माचिस की तीलियों से थोड़ाथोड़ा जला दें. इस से ये कई दिनों तक ताजा बनी रहेंगी.

रसोईघर की देखभाल

दूध को उबालते समय धीमी आंच पर रखने से पहले अगर बरतन को ठंडे पानी से अच्छी तरह धो लिया जाए अथवा उस के तले में थोड़ा सा बिना नमक वाला मक्खन लगा दिया जाए तो दूध आसानी से उबल कर नीचे नहीं गिरेगा.

पानी पीने के 2 गिलास यदि एकदूसरे में घुस कर चिपक गए हों तो इन्हें कुछ समय के लिए फ्रिज में रखें. ठंडा होने पर दोनों को आसानी से अलग किया जा सकता है.

दरवाजों पर लगे पीतल या तांबे के हत्थों, बरतनों अथवा सजावट के अन्य सामान को नीबू और नमक की सहायता से चमकाया जा सकता है.

कपड़ों पर प्रेस करने के लिए आमतौर पर स्टीम प्रेस में नल के पानी का उपयोग किया जाता है. अगर 1 कप पानी में 1 बड़ा चम्मच अमोनिया डाल दिया जाए तो पानी में नीचे गंदगी भी जमा नहीं होगी और प्रेस भी बढि़या होगी.

कालीनों की देखभाल

कालीन को बिछाने से पहले अगर नीचे अखबार बिछा दिए जाएं तो इसे नमी से बचाया जा सकता है. अगर कालीन और दरी में किसी प्रकार के दागधब्बे लग गए हों तो उन्हें कार्बन टेट्राक्लोराइड की मदद से छुड़ाया जा सकता है.

अगर कांच का गिलास अथवा क्रौकरी टूट कर फर्श पर बिखर गई हो तो साबुन की एक टिकिया गीली कर लें और उसे कांच के टुकड़ों पर रगड़ें. इस से छोटेछोटे टुकड़े इस में चिपक जाएंगे और उंगलियों को भी कटने से बचाया जा सकता है. इस प्रकार जरा सी सावधानी और थोड़ी सी मेहनत से छोटीछोटी परेशानियों से बच कर घर को सुंदर बनाया जा सकता है.