शरद और आराधना उस दौर से गुजर रहे थे जहां अकेलापन उन के लिए असहनीय था
अनलिमिटेड कहानियां आर्टिकल पढ़ने के लिए आज ही सब्सक्राइब करेंSubscribe Now