लेखक-आनिल हासान

दुनिया में 2 तरह के लोग होते हैं. एक, जो हमेशा ही शालीनता से पेश आते हैं. दूसरे, जो एयरपोर्ट पर जा कर शालीन बन जाते हैं. एयरपोर्ट का वातावरण ही कुछ ऐसा होता है कि आप न चाह कर भी सभ्य बन जाते हैं. हम अपने स्वाभाविक व्यवहार पर अतिरिक्त विनम्रता का आवरण ओढ़ लेते हैं.

Digital Plans
Print + Digital Plans
Tags:
COMMENT