शर्मसार कर देने वाला जुड़वा भाइयों की हत्या का मामला 12 फरवरी 2019 का है. चित्रकूट के सद्गुरु पब्लिक स्कूल से दोपहर 12.25 बजे पिस्टल की नोंक पर उन का अपहरण हुआ था. 2 बदमाशों ने इन बच्चों को उठाया था. अपहरण के बाद 20 लाख रुपए की फिरौती भी वसूली गई, इस के बावजूद बच्चों की हत्या कर दी गई. वह भी महज इसलिए कि जब इन बच्चों से पूछा गया कि क्या वे उन्हें पहचान लेंगे तो इन बच्चों ने हां कह दिया था. यही डर आरोपियों के मन में बैठ गया और जुड़वा भाइयों को जिंदा ही पत्थर बांध कर नदी में फेंक दिया गया.

मध्य प्रदेश के चित्रकूट से अगवा हुए 5 साल के जुड़वा बच्चों की हत्या के बारे में जिस ने भी सुना, उस का दिल रो पड़ा. बच्चों के शवों को जब परिजनों ने देखा तो वे फूटफूट कर रोने लगे. बच्चे उसी यूनीफार्म में थे, जिस में उन्होंने 12 फरवरी को तैयार कर के स्कूल भेजा गया था. उन के हाथपैर जंजीर से बंधे हुए थे.

हालांकि घटना को अंजाम देने वाले 6 गुनाहगारों को पुलिस ने पकड़ लिया है. इन में से रामकेश यादव इन बच्चों को ट्यूशन पढ़ाता था, जबकि पद्म बजरंग दल के संयोजक का भाई है. बाकी आरोपी बांदा व हमीरपुर के रहने वाले हैं. पद्म और लकी इंजीनियरिंग के छात्र हैं. आरोपियों ने इस कांड को अंजाम देने के लिए बाइक और बोलैरो कार का इस्तेमाल किया था. बाइक पर 'राम राज्य' लिखा था, जबकि बोलैरो कार पर भाजपा का झंडा था.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT