सवाल

मेरी उम्र 31 वर्ष है. मेरी 21 वर्षीया ननद हमारे साथ ही रहती है. मेरे सासससुर पटना में रहते हैं और बेटी को यहां दिल्ली पढ़ने के लिए भेजा है. वैसे तो मेरी और ननद की बहुत बनती है लेकिन उस की हरकतें मुझे विचलित कर देती हैं. कभी वह रातरातभर फोन पर बात करती रहती है तो कभी 9 बजे तक घर नहीं आती. उस के भैया जब उसे डांट देते हैं तो वह मुझे घृणित भाव से देखती है. कभीकभी तो बुरा भी कह देती है. मुझे डर है कि उस की इन हरकतों से कहीं मेरी 6 वर्षीया बेटी पर कोई गलत असर न पड़े. मुझे इस स्थिति में क्या करना चाहिए?

ये भी पढ़ें- मैं अपने बौयफ्रैंड से प्रेम करती हूं पिछले दिनों हम दोनो सारी हदें पार कर गए, अब मैं क्या करूं ?

जवाब

आप की ननद का पढ़ीलिखी युवा हो कर भी इस तरह का व्यवहार करना अचंभित करता है. अपने भाई से डांट खा कर उस का आप को खरीखोटी सुनाना कहीं से भी मान्य नहीं है. रही बात आप की बच्ची की, तो यह संभव है कि वह जो देखेसुने, वही व्यवहार में अपनाने भी लगे.

आप यह कर सकती हैं कि अपने साससुर को फोन कर उन्हें इन सभी हालात से परिचित कराएं. हो सके तो उन्हें कुछ दिन अपने साथ रहने के लिए बुला लें. इस से वे खुद अपनी आंखों से बेटी की हरकतें देख लेंगे और उन्हें ऐसा नहीं लगेगा कि आप उन से झूठी शिकायतें करती रहती हैं.

ये भी पढ़ें- मैं एक औरत से 2 साल से प्यार कर रहा हूं…एक दिन मैं ने उसे उस के देवर के साथ देख लिया, मैं क्या करूं?

Tags:
COMMENT