पांच दिन तक समाजवादी पार्टी में चली कलह की कहानी का सुखद अंत हो गया. इस बात का अंदाजा पहले से भी था. देखने वाली बात यह थी कि बीच का रास्ता किन बिन्दुओं से होकर गुजरेगा. सपा में केवल परिवार का विवाद है. परिवार के लोगों के अहम की वजह से है. ‘बाहरी ताकतें‘ केवल आग में घी डालने का काम कर सकती हैं. आग तो परिवार के लोग ही लगाने में सक्षम हैं.

COMMENT