देश की सीमा पर कश्मीर में बढ़ती आतंकी घटनायें और देश के अंदर बढ़ती नक्सलवादी घटनाओं को लेकर अब विरोधी ही नहीं, भाजपा के समर्थक भी केन्द्र सरकार के गृह मंत्रालय और केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से नाराज नजर आ रहे हैं. छत्तीसगढ में नक्सली हमले में 25 जवानों के शहीद होने और कश्मीर में स्कूली बच्चों के पत्थरबाजी में शामिल होने के कारण केन्द्र सरकार के असफल होने की बात सामने आ रही है. अब भाजपा के समर्थक भी सोशल मीडिया पर ऐसे संदेश देने लगे हैं कि गृह मंत्रालय आतंकवाद और नक्सलवाद को संभालने में असफल हो गया है. दबी जुबान में सोशल मीडिया में यह बात भी सामने आ रही है कि अगर गृह मंत्रालय इस तरह की घटनायें रोक नहीं सकता तो उसमें व्यापक फेरबदल की जरूरत है.

COMMENT