52 वर्षीय तबला वादक और संगीतकार तौफीक कुरैशी ने अपने प्रशंसकों को संगीत के कई नएनए वाद्ययंत्रों से परिचित करवाया है. उन्होंने अफ्रीका के एक प्राचीन वाद्य ‘जिम्बे’ को हिंदुस्तानी संगीत के साथ जोड़ कर फ्यूजन संगीत बनाया जिसे देश में ही नहीं, विदेश में भी लोग आश्चर्य से सुनते हैं.

Tags:
COMMENT