भाजपा के प्रवक्ता कमलानंद चौराहे पर मिल गए वे 'चौराहे' पर गोल चक्कर लगा रहे थे. मित्र कमलानंद को चक्कर लगाता देख कांग्रेस के प्रवक्ता रामानंद ने आश्चार्य से उसकी और देखा और मद्धम स्वर में कहा-मित्रवर! क्या बात है तुम चौराहे पर निरंतर चक्कर लगाए जा रहे हो, क्या बात है..

Tags:
COMMENT