बिग बॉस 13 के विनर और टीवी एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला का महज 40 साल की उम्र में हार्ट अटैक से निधन हो गया. जिससे हर कोई सदमे में हैं. उनके फैंस इसलिए भी दुखी और हैरान हैं क्योंकि वो एक हेल्दी पर्सन थे और फिटनेस का पूरा ख्याल रखते थे. फिर भी वो हार्ट अटैक का शिकार हो गए.

मौजूदा समय में बदलती लाइफस्टाइल और तनाव के बीच आम लोग भी इस समस्या से जूझ रहे हैं. ऐसे में कुछ खास बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है. ताकी आपका दिल स्वस्थ रहे.

दिल शरीर का ऐसा अंग है जो एक बार धड़कना शुरू करता है तो अंतिम सांस तक धड़कता रहता है. औसतन यह 1 मिनट में 72 बार धड़कता है. सब से कीमती अंग होने की वजह से यह बेहद सम्मान और देखभाल का हकदार है. हार्ट की समस्याएं या तो जीवनशैली की वजह से हो सकती हैं या जन्मजात (कौंजीनिटल हार्ट डिजीज) होती हैं.

जन्मजात दिल के रोग : ज्यादातर मामलों में दिल के जन्मजात रोगों की रोकथाम संक्रमण से बचाव कर के और गर्भधारण के पहले 3 महीनों में दवाएं न ले कर की जा सकती है. अगर नवजात या गर्भ में पल रहे बच्चे को दिल की कोई बीमारी हो तो जितनी जल्दी हो सके उस का इलाज करना चाहिए ताकि भविष्य में होने वाली जटिलताओं से बचा? जा सके.

रिह्यूमैटिक दिल का रोग : यह दिल की एक आम बीमारी है जो युवाओं में पाई जाती है. यह बीमारी अकसर स्कूल जाने वाले उन बच्चों को हो जाती है जिन्हें गठिया की वजह से बुखार हो जाता है. इस बीमारी को पूरी तरह से रोका जा सकता है. अभिभावकों को चाहिए कि वे जब बच्चे का गला खराब हो या खांसी हो तो डाक्टर से जांच कराएं और रिह्यूमैटिक बुखार है या नहीं, इस का पता लगाएं. दूसरों तक संक्रमण न फैले, इस के लिए खांसी ठीक हो जाने तक बच्चे को स्कूल नहीं भेजना चाहिए.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT