आज खेल का प्रभुत्व बढता जा रहा है और इसका उदहारण है छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में एक ऐसा गांव है, जहां हर घर में एक खिलाड़ी रहता है. डिस्‍ट्रिक्‍ट हेडक्‍वॉर्टर से महज 12 किलोमीटर दूर पुरई नाम का यह गांव ‘खेल गांव’ के रूप में मशहूर है.

इस गांव के खिलाड़ियों ने जिला,  प्रदेश और देश में गांव का नाम रोशन किया है. गांव का एक खिलाड़ी तो इंटरनेशनल खो-खो मैच में भारत का प्रतिनिधित्व भी कर चुका है.

COMMENT